Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!
Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!

रिश्तों का कारवां !

रिश्तों का कारवां !

1 min
216


एहसासों की पगडंडियों पर 

रिश्तों का कारवां उम्मीदों के 

सहारे ही आगे बढ़ता है ! 


लेकिन जिस दिन ये एहसास 

कमजोर पड़ने लगते है उस 

दिन से ही उम्मीदें स्वतः ही 

दम तोड़ने लगती है ! 


और ज़िन्दगी की वो ही 

पगडंडियाँ जो कारवां से 

भरी रहती है वो उम्मीदों 

के रहते हुए भी अचानक 

एक दिन सुनसान नज़र 

आने लगती है ! 


और ये उम्मीदें जो दबे 

पाँव आकर रिश्तों की डोर 

पर हावी हुई रहती है 

वो फिर एकदम से 

डगमगाने लगती है !


लेकिन जिन रिश्तों की 

डोर बुनी होती है मतलब 

के धागों से वो टूट जाती है !  

और जिन रिश्तों की डोर 

होती है बुनी विश्वास के 

अटूट धागों से वो डोर उम्मीदों 

का बोझ उठा लेती है ! 


उन सभी रिश्तों की उम्मीदों 

का और रिश्तों की डोर को 

टूटने से बचा लेती है !


Rate this content
Log in

Similar hindi poem from Tragedy