Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!
Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!

Amresh Kumar Labh

Children

4.2  

Amresh Kumar Labh

Children

बच्चे हैं बच्चे रहने दो

बच्चे हैं बच्चे रहने दो

1 min
194


बच्चे हैं बच्चे रहने दो

बचपन के कुछ पल जीने दो

लादो न बोझ से ऐसे

बन पंछी उसे चहकने दो

बच्चे हैं बच्चे रहने दो ।


अपने सपनों से मत जोड़ो

अरमान जो उनके, मत तोड़ो !

खिल जाने दो फूलों की तरह

कुछ अपने महक महकने दो

बच्चे हैं बच्चे रहने दो।


पढ़ने लिखने से मत रोको

न खेल कूद में ही टोको

बढ़ रहे अगर वे सत्य राह

अपने बल कुछ गुजरने दो

बच्चे हैं बच्चे रहने दो।


आयेगा समय, तो ये बच्चे

कर्तव्य से होंगे न पीछे

गुणगान करेगा जग सारा

अभी अपने धुन कुछ गाने दो

बच्चे हैं बच्चे रहने दो ।


Rate this content
Log in