Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer
Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer

AMAN SINHA

Tragedy

5  

AMAN SINHA

Tragedy

अच्छे दिन आएँगे

अच्छे दिन आएँगे

2 mins
388


अच्छे दिन आएँगे, अच्छे दिन आएँगे

घर घर जाके सबको हम सपना यही दिखाएंगे

अच्छे दिन आएँगे, अच्छे दिन आएँगे


रोज़गार की फिक्र न होगी करेंगे सब व्यापार

स्टार्ट-अप इंडिया कर देगा सबकी नैया पार

मिल-जुल के सबके संग हम रेत पर नांव चलाएंगे

अच्छे दिन आएँगे अच्छे दिन आएँगे


भूखे पेट न सोयेगा अब कोई गरीब

१५ लाख मि ल जाएंगे हो जाएगा सब ठीक

उज्ज्वला के चूल्हे पर फिर रोटी खूब पकाएंगे

अच्छे दिन आएँगे, अच्छे दिन आएँगे


लाभ सभी का हो जाएगा करके लिंक आधार

बिमा भी मिल जाएगा मर गए जो एक बार

बोल यही बोल के सबके खाते हम खुलवाएंगे

अच्छे दिन आएँगे, अच्छे दिन आएँगे


कर देंगे बेकार पर पेंशन की भरमार

घर सबको दि लवा देंगे स्मार्ट सिटी के पार

२४ घंटे गाँव में बल्ब हम जलाएंगे

अच्छे दिन आएँगे, अच्छे दिन आएँगे


इकॉनमी बढ़ जाएगी होगा पूर्ण विकास

सबकोई मिलकर गाएंगे न्यू-इंडिया का राग

आँखों में सबके हम उम्मीद के दिए जलाएंगे

अच्छे दिन आएँगे, अच्छे दिन आएँगे


प्रार्थना और अज़ान पर होगा घोर विरोध

आपस की लड़ाई में हम देंगे सबको झोंक

गीता और कुरान में ही देश को हम उलझाएँगे

अच्छे दिन आएँगे, अच्छे दिन आएँगे


नोट बंदी से कर देंगे काला धन बर्बाद

जीएसटी से कर देंगे बिज़नेस को आबाद

टैक्स भरने वाले सब त्राही-त्राही चिल्लाएंगे

अच्छे दिन आएँगे, अच्छे दिन आएँगे


रोज़गार के फैसले हो जायेंगे मंद

आंकड़े ना आएँगे तो कौन करेगा तंग

हर क्षेत्र में अपना हम वक्ता एक बैठाएंगे

अच्छे दिन आएँगे, अच्छे दिन आएँगे


विपक्षी के टीम को हम कर देंगे कम

जो भी हमसे मिल गया बोलेंगे वेलकम

सबके काले पाप को गंगा सा साफ़ करवाएंगे

अच्छे दिन आएँगे, अच्छे दिन आएँगे


सरकार के काम को जो देगा कोई दोष

देश द्रोही में कर देंगे उसका नाम उद्घोष

पक्ष में रहने वाले सारे देश भक्त कहलाएंगे

अच्छे दिन आएँगे, अच्छे दिन आएँगे।


Rate this content
Log in

Similar hindi poem from Tragedy