Himanshu Sharma

Abstract Comedy

3  

Himanshu Sharma

Abstract Comedy

भौंकता कुत्ता

भौंकता कुत्ता

1 min
204


"गोयल साहब! आजकल आपका कुत्ता हद से ज़्यादा भौंकने लगा है, क्या कोई परेशानी है क्या?" मैंने अपने पड़ोसी गोयल साहब से पूछा, "अरे नहीं साहब बात ये नहीं है, बात कुछ और है!" गोयल साहब ने प्रत्युत्तर दिया! "अरे बताइये क्या बात है, इसने भौंक-भौंक कर नींद हराम कर दी है!" मैंने थोड़ा गुस्से में जब कहा तो गोयल साहब ने बताया, "दरअसल एक दिन इसका पट्टा गलती से ढीला होकर खुल गया था और ये भागकर पत्रकार कॉलोनी चला गया, जाने क्या हुआ इसे वहाँ पे, जब से इसे वहाँ से इसे पकड़कर लाये हैं इसे हर दो घंटे में बोटी चाहिए नहीं तो भौंकना चालू कर देता है!" 

गोयल साहब का कुत्ता अब भी भौंकता है, थोड़ी देर चुप रहकर फिर भौंकता है! अब तो सुना है उसे खरीदने में हमारे यहाँ के विधायक जी "इंटरेस्टेड" हैं ताकि बोटी देकर इसे अपने विरोधियों पर भौंकवा सकें!


Rate this content
Log in

Similar hindi story from Abstract