Click here to enter the darkness of a criminal mind. Use Coupon Code "GMSM100" & get Rs.100 OFF
Click here to enter the darkness of a criminal mind. Use Coupon Code "GMSM100" & get Rs.100 OFF

Randheer Rahbar

Romance


4.0  

Randheer Rahbar

Romance


मेरी सांसों में तुम हो

मेरी सांसों में तुम हो

1 min 218 1 min 218

अक्सर मेरे दिल की

हरकत में तुम हो

मेरी बातों में

जज़्बातों में तुम हो !


हवाओं में समां है

गुलाबों में जैसे खुशबू

मेरी सांसों में तुम हो !


सुबह -सा सुकून

साँझ की लाली

पत्तों पे लिपटी

ओस की बूंदों-सी तुम हो !


जैसे अम्बर यूँ गहरे

समंदर में लहरें

सीप मेरे मन की

मोती - सी तुम हो !

            


Rate this content
Log in

More hindi poem from Randheer Rahbar

Similar hindi poem from Romance