Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!
Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!

Manju Rani

Drama

4.8  

Manju Rani

Drama

कच्चे धागे

कच्चे धागे

1 min
74


इस जीवन पथ पे

जब हम छोटे-छोटे पाँव

धरा पर रखते

तो नन्हें-नन्हें हाथ

एक-दूसरे को थाम लेते।


हाथ में हाथ थामें

आँगन की दुनिया पार कर लेते।

माँ की डाँट के आँँसू भी

एक दूसरे के पोंछ लेते।


खुद ही लड़ते-झगड़ते खुद ही

अपने मामले सुलझा लेते।

छोटी-छोटी परीक्षाओं के

आंकलन भी खुद ही कर लेते।


फिर अपनी-अपनी सफलताओं

के लिये दूरियाँ भी सह लेते।

पर एक-दूसरे के लिए

सदा अपने को तैयार कर लेेते।


समय आने पर मीलों की दूरियाँँ

सैकड़ों में पार कर लेते।

जरूरत पड़ने पर एक-दूसरे के लिए

अपने अंग भी दान कर लेते।


उस की एक साँँस के लिए

अपनी सो सांसे कुर्बान कर लेते।

डगर के उतार-चढाव

सारी उम्र आपस में बाँँट लेते।


खुशियों की टोकरी में सेे

खुशियाँ एक-दूसरे के लिए ले लेते।

न जाने कितने इस जीवन केे

खट्टे-मिठे अनुभव

आपस में ही बाँट लेते।


जीवन के आखिरी पडाव तक

एक-दूसरे के लिए दुआ माँग लेते।

अपने को सारी उम्र

इस कच्चे धागे से बांध लेते।


एक-दूसरे की रक्षा के लिए

रक्षाबंधन में बाँध लेते।


Rate this content
Log in

Similar hindi poem from Drama