Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!
Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!

Kumar Vikash

Inspirational

4.5  

Kumar Vikash

Inspirational

माँ के पहले तुम एक नारी हो

माँ के पहले तुम एक नारी हो

1 min
226


बलात्कार तो रोज ही होता है किसी न

किसी रूप में किसी न किसी नारी का ,


कुछ घटनाऐं उजागर हो जाती हैं और

कुछ शर्म के मारे दबा दी जाती हैं !


पर हवश के आगे की हैवानियत और

दरिन्दगी जब सामने आती है ,


तब उन मासूमों की लाचारी और तड़प

आँखों के सामने छा जाती है !


फिर असीम क्रोध की अग्नि ज्वाला

रग-रग में दौड़ लगाती है ,


उस घटना से किसी का सरोकार नहीं

पर कुछ की मानवता जाग जाती है !


तो क्यों नहीं जागती इन दरिन्दों के

माताओं की आत्मा ,


क्यों देतीं हैं वह संरक्षण उन हैवानों को

देके जहर क्यों नहीं मार देती हैं !


माना कि वे इन दरिन्दों की महतारी हैं

पर सबसे पहले वे स्वयं एक नारी हैं ,


जागो फिर कि तुम काली, सृष्टिकारी हो ,

माता भगिनी पुत्री से ऊपर तुम्हारी नारी जाति है !


आज रच दो फिर एक इतिहास इस धरा

पर तुम्हारा नाम होगा ,


तब दुनिया गर्व से कहेगी वर्षो से जो

सोई थी यह वो नारी जाति है यह वो नारी जाति है !!


Rate this content
Log in