Hansa Shukla

Tragedy


4.7  

Hansa Shukla

Tragedy


रिश्वत

रिश्वत

1 min 235 1 min 235

नौ साल का राहुल आज अखबार के हेड लाइन में"सफाई विभाग में बाबू रिश्वत लेते पकड़ा गया" खबर पढ़कर कौतूहल से अपने पापा से पूछा-पापा रिश्वत लेने क्या होता है?पापा ने मुस्कुराते हुए कहा -किसी काम को करने के लिए हमे जो सैलरी मिलती है उस काम को करने के लिए जब हम किसी आदमी से अलग से पैसा लेते है और उसका काम करते है तो इसे रिश्वत कहते है।

कुछ दिन के बाद घर मे दो अंकल आये पाप से मिलने तब राहुल वही खेल रहा था वह अंकल पापा को एक एनवलप देते हुवे बोले "गुप्तजी यह तीस हजार रख लीजिए और मेरा काम करवा दीजिएगा बहुत दिनों से ऑफिस के चक्कर काटकर परेशान हो गया हूँ।" पापा ने मुस्कुरा कर कहा अब आपका काम हो जाएगा आप निश्चिन्त हो जाये। अंकल के जाने के बाद राहुल ने पाप से कहा पापा आपने जो अंकल से काम कराने के लिए लिया वह रिश्वत है ना,कल अखबार में आपका नाम आएगा। पापा निरूत्तर थे राहुल रिश्वत को अच्छे से समझ गया था।


Rate this content
Log in

More hindi story from Hansa Shukla

Similar hindi story from Tragedy