Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer
Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer

Asha Jakar

Abstract

4  

Asha Jakar

Abstract

राखी का त्यौहार

राखी का त्यौहार

1 min
46


आया राखी का त्यौहार

अब कैसे मनाए त्यौहार ?

लॉक डाउन का है प्रसार

अब कैसे मनाएं त्यौहार ?


बहना बैठी सोच रही हैअब कैसे राखी बाधेंगे ?

अपने हाथों राखी बनाई पर कैसे राखी भेजेंगे?

कोरोना का हाहाकार अब कैसे मनाए त्यौहार

आया राखी का त्यौहार अब कैसे मनाए त्यौहार ?


डाल डाल पर फूल खिले हैं कैसे गाए गीत रे ?

थाल में राखी सजी हुई है करुणा का संगीत रे।

भैया का है इंतजार अब कैसे मनाए त्यौहार ?

आया राखी का त्यौहार कैसे मनाएं त्यौहार ?


पावनता का भाव भरा है लाल रंग के धागे में

भाई बहन का प्यार गुंथा है इस छोटे से धागे में।

पर फीकी पड़ी है फुहार अब कैसे मनाए त्यौहार ?

आया राखी का त्यौहार कैसे मनाएं त्यौहार ?


सरहद पर जो गये सिपाही उनको राखी भेजेंगे

पहले राखी वो पहनेंगे फिर हम राखी बांधेंगे

उनका भी घर परिवार !पर कैसे मनाएं त्योहार ?

आया राखी का त्यौहार अब कैसे मनाएँ त्योहार ?

लॉक डाउन का है प्रसार अब कैसे मनाएं त्यौहार ?


Rate this content
Log in

Similar hindi poem from Abstract