Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!
Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!

Asha Jakar

Abstract Romance Fantasy

3  

Asha Jakar

Abstract Romance Fantasy

कहाँ हो तुम आ जाओ ?

कहाँ हो तुम आ जाओ ?

1 min
270


मौसम है बहारों का

मौसम है नज़ारों का

शीतल पुरवैया 

कहाँ हो तुम आ जाओ ?

देखो बदरा गरज रहे

नभ मेघा बरस रहे

मनवा सुलग रहा

कहाँ हो तुम आ जाओ?

बरसात है भीगी सी

देखो हवा चले ठंडी सी

अधर फड़फड़ा रहे

कहाँ हो तुम आ जाओ ?

अँखियाँ देखो बरस रही

मिलने को तरस रही

मेरे सपने टूट रहे

कहाँ हो तुम आ जाओ ?

द्वारे मंगल कलश सजे

राहों में फूल सजे

फूल मुरझाने लगे

कहाँ हो तुम आ जाओ?



Rate this content
Log in