Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!
Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!

Mohanjeet Kukreja

Drama

4.3  

Mohanjeet Kukreja

Drama

हैचरी के चूज़े

हैचरी के चूज़े

1 min
503


डाo रमेश कुमार

हिंदी अनुवाद: मोहनजीत कुकरेजा


आप

अगर चाहते हैं

कि

आपके क़द से ऊंचा हर वृक्ष

काट दिया जाए

और बादल

सिर्फ़

आपकी छत के नीचे ही गरजे.

 

गाँव देहात के खाद-कूड़े के ढेर पर

शोर मचाते

देसी मुर्गों की

नसबंदी करा दी जाए

और

पूरी क़ौम

हैचरी से निकले चूज़ों की तरह

बस

चूँ चूँ, चूँ चूँ ही करे !


हाँ,

चूँ चूँ, चूँ चूँ ही तो कर रहे हैं

हम सभी

हाँ हाँ, हाँ हाँ करते

और जी जी-जी जी कहते...


मुर्गी-ख़ाने से निकलती

चूँ चूँ, चूँ चूँ ही तो है

चारों तरफ़

आवाज़ कोई नहीं

काश

-कोई बांग दे सकता...!    


Rate this content
Log in

Similar hindi poem from Drama