Read #1 book on Hinduism and enhance your understanding of ancient Indian history.
Read #1 book on Hinduism and enhance your understanding of ancient Indian history.

Kajal Manek

Romance


3  

Kajal Manek

Romance


इंतज़ार

इंतज़ार

2 mins 235 2 mins 235

रीना ने सोच के रखा था कि वो कभी भी लोंग डिस्टेंस रिलेशनशिप में नहीं पड़ेगी ऐसा उसने इसलिए सोचा था क्योंकि उसने अपनी सहेली का हाल देखा था। जो बस हमेशा रोती रहती की वह जिसका इंतजार करती थी उसके पास उसके लिये वक़्त नहीं होता था।


पर फिर रीना की मुुुलाकात प्रदीप से हुई जो उसी के ऑफिस में था नई जगह आकर पहले तो प्रदीप को असहज महसूस हो रहा था। लेकिन फिर धीरे धीरे सबसे बात करते करते वह भी सहज हो गया। कभी कभी जब ऑफिस के सब लोग साथ बैठकर लंच करते तो रीना और प्रदीप भी साथ खाना खाते।


रीना कितने वर्षों से नौकरी कर रही थी पर प्रदीप के जैसा सुलझा हुआ और साधारण लड़का उसने पहली बार देखा था वह उसे पसन्द करने लगी थी।


कहीं न कहीं प्रदीप भी रीना को पसन्द करता था,धीरे धीरे दोनों की बातें होने लगी नजदीकियां बढ़ने लगीं। प्रदीप और रीना ने निश्चित किया एक दूसरे से ही विवाह करेंगे। समय बीता पर फिर प्रदीप का ट्रांसफर हो गया, रीना को रोना आ गया वो तो लॉन्ग डिस्टेंस के बारे में सोच भी नहीं सकती थी। उसे तो उसका प्रियतम उसके पास चाहिए था।


प्रदीप ने उसे समझाया मैं तुम्हारा था तुम्हारा ही रहूंगा हम मिलेंगे बात करेंगे और थोड़े वक़्त बाद विवाह भी करेंगे। 


ऑफिस से छूटकर रीना प्रदीप के फ़ोन का इंतजार करती। प्रदीप भी उत्सुक रहता रीना से बात करने को, रीना फ़ोन में भी यही कहती मैं अच्छा महसूस नहीं कर रही हूं और रो पड़ती।


प्रदीप ने एक बार हफ्ते भर तक रीना को न फ़ोन किया न ही उठाया रीना का हाल बहुत बुरा हो चुका था कभी कभी उसे लगता सब खत्म हो गया लेकिन उसे लगता शायद इंतज़ार करना चाहिए। एक हफ्ते बाद प्रदीप ने फोन किया कहा कि जरूरी मीटिंग थी ऑफिस की, रीना ने कहा यदि मैं तुम्हारी प्राथमिकता नहीं रही तो बात करने का अर्थ नहीं।


प्रदीप ने फोन किया पर रीना ने नहीं उठाया एक माह के अबोलेपन के बाद प्रदीप वापस आया रीना के पास अपने पुराने शहर उसे देख रीना की आंखें भर आईं। प्रदीप ने कहा मैं समझ गया हूं न मैं तुम्हारे बिना रह सकता हूं न तुम मेरे बिना, अब और इंतजार नहीं करना पड़ेगा हम जल्दी ही विवाह कर लेते हैं।


बस फिर क्या था रीना और प्रदीप ने एक दूसरे के घर में बात करी और विवाह उनका धूमधाम से सम्पन्न हुआ, उन्हें उनका सच्चा प्यार मिल चुका था उनका इंतजार रंग लाया था।


Rate this content
Log in

More hindi story from Kajal Manek

Similar hindi story from Romance