Richa Baijal

Abstract


3  

Richa Baijal

Abstract


डीअर डायरी: डे 6

डीअर डायरी: डे 6

2 mins 12.2K 2 mins 12.2K

डीअर डायरी ,

अब तक जिसने भी मेरी डायरी को पढ़ा है उसको इतना तो समझ मे आ ही गया होगा कि सोशल डिस्टन्सिंग कितनी ज़रूरी है।

आइये, फिर से बात करते हैं मेरे भारत की। 1260 केसेस से निबट रहा है इस वक्त मेरा देश। इसमे लापरवाह लोगो की तादात ज़्यादा है। हज़रत निज़ामुद्दीन स्टेशन पर १४०० लोगों का जमघट लगा था जिसमे से ३०० विदेशी थे। सी . एम. योगी ने डी.एम. को डाँट लगायी। डी एम को ट्रांसफर कर जांच के आदेश दिये। इसके अतिरिक्त नोएडा मे एक कंपनी के २० पॉजिटिव कर्मचारी निकले। कारण था कि कम्पनी ने बाहर जाने वाले कर्मचारियों की इत्तला पुलिस को नहीं दी. वहीं सी एम योगी ने उत्तर प्रदेश मे पलायन करते मज़दूरों पर ज़हरीले पदार्थ की बारिश करा दी।

गुजरात में पुलिस पर ही पत्थर फेंक दिये मज़दूरों ने। देश मे कोरोना के साथ विद्रोह बढ़ रहा था। प्रशासन गुस्से में था। सरकार का गुस्सा पुलिस के दंडो के रूप मे बरस रहा था। देश सदमे में था। लोग गुमसुम घर में बैठे हैं.....


एक मासूम सा सवाल उठता है फिर " हम तो घर में बैठे हैं , फिर बाहर कौन जा रहा है ? "


ए देश संभल जा 

अब भी वक्त है बाकी 

सुन मेरी बात

 बस अपने घर में ठहर जा !


Rate this content
Log in

More hindi story from Richa Baijal

Similar hindi story from Abstract