Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!
Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!

अमित प्रेमशंकर

Abstract

4.5  

अमित प्रेमशंकर

Abstract

सैयां काहे कईला देरिया

सैयां काहे कईला देरिया

1 min
275


सुना दीदी फोनवा लगा दीं

तनिका सा बतिया करा दीं

भूल गईलें मड़वा के उखियां

माई तनी जल्दी से दऊरा सजा दीं

भोरहीं से गईलें लावे चतरा बजरिया

भइले जाता अरघ के बेरिया,

सैयां कहवां कईले देरिया।

ले अईलीं बांस के डलईया

संगे में आम के पोलईया

ले अईलीं जोड़े जोड़े सुपवा

फलवा ले अईलीं बड़का भैया

बितल दोपहरी,सांझ ढलल

अब भईल जाता गदबेरिया

भईले जाता अरघ के बेरिया

सैयां कहवां कईले देरिया..

भईले जाता अरघ के बेरिया

सैयां कहवां कईले देरिया

मौसा जी दौरा सजावे

घिया के दिया जरावे

गावें के अरूण अ लखन भैया

लगलैं डीजे बजावे

मामा जी कलशा ले अईलीं

हं जा के भोरे सिमरिया

भईले जाता अरघ के बेरिया

सैयां कहवां कईले देरिया

भईले जाता अरघ के बेरिया

सैयां कहवां कईले देरिया

कईला कहां एतना देरिया

पेधीं जी जल्दी पियरिया

लें लिहीं बाबुजी दऊरा

माथे बांधी के लाले पगरिया

मुन्ना के हथवा ध लीं

ए माई लमहर बाटे डगरिया

दीपू खोली जनी केंवरिया

भईले अरघा के बेरिया

करते माई के जयकरिया

चलते चलीं सौंसे रहिया

भईले जाता अरघा के बेरिया

सैयां काहे कईला देरिया.....!!



Rate this content
Log in