Hurry up! before its gone. Grab the BESTSELLERS now.
Hurry up! before its gone. Grab the BESTSELLERS now.

Lakshman Jha

Romance


4  

Lakshman Jha

Romance


जीवन -साथी

जीवन -साथी

1 min 257 1 min 257


तुम साथ हमारा देदो साथी ,

मंजिल को हम पा जायेंगे !

हमको जीवन दान मिलेगा ,

सुख जीवन का पा जायेंगे !!

हो दुर्गम राहें मंजिल की ,

धुँधली प्रकाश की रेखा हो !

तेरा साथ रहे जीवन भर ,

फिर क्या लेखा -जोखा हो !!

हँसकर दुर्गम घाटी को भी ,

एक क्षण में ही टप जायेंगे !

हमको जीवन दान मिलेगा ,

सुख जीवन का पा जायेंगे !

रूखी -सुखी खाकर हमारे ,

जीवन यूँ ही कट जायेंगे !

अँधियारी रातों में मिलकर ,

जीवन ज्योति जगायेंगे !!

एक दूजे की बाहों में हम ,

कुछ क्षण रात बिताएंगे !

हमको जीवन दान मिलेगा ,

सुख जीवन का पा जायेंगे !!

जीवन साथी साथ रहेंगे ,

मंज़िल को हम पा लेंगे !

राहें सब आसान बनेगी ,

ऊंच शिखर को पा लेंगे !!

है आनंद साथ चलने में ,

प्रेम की गंगा हम बहायेंगे !

हमको जीवन दान मिलेगा ,

सुख जीवन का पा जायेंगे !!

तुम साथ हमारा देदो साथी ,

मंजिल को हम पा जायेंगे !

हमको जीवन दान मिलेगा ,

सुख जीवन का पा जायेंगे !!



Rate this content
Log in

More hindi poem from Lakshman Jha

Similar hindi poem from Romance