Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!
Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!

Arvind Tiwari

Drama

5.0  

Arvind Tiwari

Drama

दिल का कफन

दिल का कफन

1 min
419


न पहनाओ मेरे दिल को कफन

ऐ मेरे दिल को दफन करने वालों

इस दिल को न जख्मी कर पाओंगे

बहुत धड़कनें बची है अब भी इसमें।


मेरी मौत का सौदा न कर पाओगे

हमें डुबाने का शौक न पालो

हमें डूबाने का सोचने वालों

हमें डुबाने के लिए वो जिगरा कहाँ से लाओगे।


बिना धड़कनों के धड़कनें लगा है अब ये दिल 

इसकी धड़कनों को चुरा कैसे पाओगे !


Rate this content
Log in

Similar hindi poem from Drama