Win cash rewards worth Rs.45,000. Participate in "A Writing Contest with a TWIST".
Win cash rewards worth Rs.45,000. Participate in "A Writing Contest with a TWIST".

Vishnu Saboo

Abstract Crime Inspirational


4.5  

Vishnu Saboo

Abstract Crime Inspirational


शो ऑफ

शो ऑफ

6 mins 227 6 mins 227

रेणु अपनी कार में बैठी हुई मोबाइल स्क्रीन को स्वाइप करती जा रही थी और खुश हो रही थी अपनी शानदार फ़ोटो और वीडियो देख कर। 

पूरी फैमिली के साथ वो मॉरीशस घूम के आई थी वो भी पूरे 2 सप्ताह । उनके पति नागेश एक सफल व्यवसायी है और शहर में उनका अच्छी पैठ है रुतबा है। वैसे तो ये लोग हर साल कहीं न कहीं जाते रहते है पर पहली बार विदेश घूमने गए थे क्योकि नागेश के पार्टनर और पड़ोसी सुयश ने कहा कि इस बार कहीं बाहर चलते है बहुत हो गया इंडिया की इंडिया में घूम घूम कर। 

 रेणु बेताब थी कि वो जल्दी से घर पहुँचे और अपने किटी वाली सब सहेलियों को सारे किस्से "मसाले " लगा कर सुनाए और जो भी खरीददारी करी है वो दिखाए और उनकी जलन का मजा ले। वो सोच सोच के ही खुश हो रही थी कि कितना मजा आएगा जब मेरे विदेश की पहली ट्रिप की बातें सुनकर और ये सामान देख कर उसकी पड़ोसन नीलिमा जल भून कर राख होगी । मॉरीशस एयरपोर्ट से ही उसने अपने किटी के व्हाट्सएप ग्रुप में लिख दिया था कि आज की किटी वो रखेगी और सबको आना है। नागेश ने उसे मना भी किया कि आज आराम करके कल रख लेना पर रेणु तो उतावली थी अपने इस पाखंड को "एन्जॉय" करने के लिए।

घर पहुँच कर जैसे ही ये लोग बैडरूम में अंदर घुसे अंदर का नजारा देख कर आंखे फैलती चली गई । सारा सामान अस्त-व्यस्त था । अलमारी और सेफ दोनों के ताले टूटे हुए थे , और उसमें से सब कीमती सामान गायब था । दोनों पति-पत्नी और बच्चों ने सर पकड़ लिया घर की हालत देख कर की ये क्या है? नागेश ने सबको मना किया कि किसी भी चीज को न छुए और तुरंत पुलिस को बुलाने के लिए फ़ोन किया । जब नागेश पुलिस से बात कर रहा था सुयश का कॉल वेटिंग में आ रहा था , पुलिस का फोन काटते ही नागेश ने सुयश को कॉल किया तो सुयश ने कहा उसके घर चोरी हो गया । दोनों पड़ोसियों के घर इस तरह चोरी होना बहुत ताज्जुब का बात था।

बैडरूम के बाद जब रेणु किचन में पहुँची तो देखती रह गयी, ऐसा लग रहा था जैसे कि चोरों ने बड़ी आराम से पार्टी की है वहाँ पर , बर्तन फैले हुए थे फ्रीज़ का खाने लायक समान उन्होंने खा लिया था और बाकी का गिरा दिया था।

पुलिस टीम मौके का जायजा लेने पहुँची जिसे कपिल नाम का अफसर नेतृत्व कर रहा था । फिंगरप्रिंट एक्सपर्ट को बोला गया कि यहां से फिंगर प्रिंट उठाये और फोटोग्राफर से वहाँ की सब फ़ोटो लेने को कहा गया । सुयश के घर भी यही हाल था। 

फिंगरप्रिंट एक्सपर्ट को वहां पे कोई बाहर के व्यक्ति के फिंगरप्रिंट नहीं मिले । क्योंकि ये एक बड़ी वारदात थी और नागेश और सुयश दोनों की अच्छी पहुँच थी तो पुलिस पे भी दवाब था कि केस जल्दी से क्रैक करे । पर कोई सुराग नहीं मिल रहा था , लगता था चोरों ने बड़ी फुरसत से चोरी की और आराम से सुबूत मिटाये थे। 

रेणु का हाल बुरा था कि कहाँ तो वो सबको जलाने का प्लान बनाये बैठी थी कहाँ हालात ये हो गए कि उसकी बोलती बंद हो गयी है । उसे रह रह कर बस यही खयाल सता रहा था कि नीलिमा को 1 और बहाना मिल गया उसे चिढ़ाने का। चोरों ने ऐसा हाथ साफ किया कि उसकी सारी महँगी ज्वेलरी , डिजाइनर और एंटीक समान सब ले गए। वो मन ही मन कोस रही थी चोरो को।

इधर कपिल को कुछ सुराग नहीं मिल रहा था और वो मौके पे ली हुई तस्वीरें देख रहा था तभी उसकी नजर पड़ी किचन में पड़े बर्तनों पे और उसे याद आया कि नागेश ने उसे बताया था कि यहाँ पे बैठ पार्टी की है। और बर्तनों में पड़ी जूठन , सब्जी को देख के ऐसा लग रहा था कि वो 2-3 दिन से ज्यादा पुरानी नहीं है, उसने तुरंत अपनी तकनीकी टीम को कहा कि उस टाइम में जिस टाइम चोरी हुई उस इलाके में जो भी नंबर एक्टिव थे वो सबकी डिटेल निकाले। एक लंबी चौड़ी लिस्ट निकल के सामने आई जिसमे हर एक नंबर को खंगाला गया कि वो उसी इलाके का है या बाहर का।

लंबी माथा-पच्ची के बाद 4 नंबर निकल के सामने आए जो उस इलाके में नए थे और उस दिन के बाद अभी तक दोबारा वहां नही दिखे । पुलिस ने उन नंबर का ट्रैक किया पर वो सब नंबर अब बन्द आ रहे थे । जाहिर था कि चोरों ने वो नंबर या तो बदल लिए थे या मोबाइल बंद किये थे। 

कपिल ने फिर तकनीकी टीम से कहा कि क्या ऐसा हो सकता है कि उस मोबाइल में दूसरा सिम डालकर ऑन करे तो हम उसे ट्रेस कर सके। तकनीकी टीम ने अब मोबाइल के आई.एम.ई.आई. नंबर पे सर्विलेंस लगा दी और 3 दिन बाद उनमे से 1 मोबाइल ऑन हुआ । 

कपिल ने तुरंत अपनी टीम तैयार की और उस इलाके में धर पकड़ की जहाँ पे वो नंबर एक्टिव हुआ । आखिर पुलिस ने उसे पकड़ लिया और कड़ी पूछताछ के बाद उसने अपने बाकी साथियों के नाम और ठिकाने बता दिए । जब पुलिस ने उनसे पूछताछ की तो उन्हीने अपना जुर्म कुबूल कर लिया । पर कपिल के मन में अभी भी ये प्रश्न था कि इन्होंने इतना आराम से 2 घरों में चोरी अंजाम कैसे दी, तो जो बात निकल कर आई वो आंखे खोलने लायक थी।

चोरों में से 1 ने बताया कि उसने रेणु की मॉरीशस की फ़ोटो सोशल मीडिया पे देखी थी और उसमें हुए कमैंट्स से उसे पता लगा कि ये 2 परिवार एक लंबी छुटिटयां बिताने देश के बाहर है और घर में कोई नहीं है तो उन्होंने आराम से दोनों घर में हाथ साफ किया।

कपिल ने रेणू का सोशल मीडिया एकाउंट चेक किया तो देखा उसने पल पल की अपडेट दे रखी है और तो और कमैंट्स में हुई अपने दोस्तों को उसने ये तक बताया हुआ है कि दोनों घरों के नौकर भी नहीं है और वो लोग कैसे और कब वापिस आने वाले है। 

कपिल ने जब रेणु से पूछा इस बारे में तो वो बस आंखे झुकाएं रोये जा रही थी । दरअसल रेणु की ये "पाखण्ड" करने की आदत के कारण चोरों को अच्छा खासा मौका मिला । उसके इस शो ऑफ के कारण सुयश के घर भी चोरी हुई क्योंकि घूमने गए इन 7 लोगों में से सिर्फ रेणु ही थी जो एक्टिव थी और हर गतिविधि की फ़ोटो, चेक-इन की पोस्ट कर रही थी।

ये मामला एक बड़ी सीख था रेणु और उन जैसे "सोशल मीडिया फ्रिक्स" के लिए जो "शो ऑफ" करते है , अपनी हर छोटी मोटी गतिविधियों को लोगो के सामने परोस कर उन्हें न्योता देते है अपनी जिंदगी में झांकने का और इन चोरों जैसे मौकोरस्तों को वारदात अंजाम देने का।


Rate this content
Log in

More hindi story from Vishnu Saboo

Similar hindi story from Abstract