Vijaykant Verma

Tragedy Crime Thriller


4  

Vijaykant Verma

Tragedy Crime Thriller


रेपिस्टों का रेप

रेपिस्टों का रेप

5 mins 273 5 mins 273

रागिनी ने इसी साल उम्र के सत्रहवें साल में प्रवेश किया था। इंटर फाइनल की वो छात्रा थी। वो जब भी स्कूल जाती, रकीब नाम का एक लड़का उसे रोज परेशान किया करता। रास्ते में रोक लेना उस पर फब्तियां कसना उसका रोज का काम था। रागिनी उस से तंग आ गई थी । उसको समझ में नहीं आ रहा था, कि वह स्कूल कैसे जाए। एक दिन की बात होती, तो कोई बात नहीं, पर यह तो रोज का सिलसिला हो गया था। 

रकीब को मालूम था कि वह घर से ठीक 10:30 पर निकलती है। और उसी समय वह रास्ते में खड़ा हो जाता। उसके 2 साथी भी उसके साथ होते। घर से स्कूल का रास्ता 1 किलोमीटर का था। और यह दूरी वह साइकिल से तय करती थी। स्कूल के रास्ते में अक्सर सन्नाटा होता।

एक दिन स्कूल जाते समय अचानक बेमौसम बारिश होने लगी। वो पूरी तरह से भीग गई। उसका बस्ता भी भीग गया। उसके समझ में नहीं आया कि अब वो क्या करें। उसने जल्दी से अपनी एक सहेली रीना को फोन किया, कि वो रास्ते में फंस गई है। बारिश बहुत तेज है। और वह पूरी तरह भीगी हुई है। वो "ब्राइट कोचिंग" के बरामदे में है। वह तीनों लड़के भी यही थोड़ी दूर पर खड़े हैं। और उन्होंने मुझे देख लिया है। प्लीज मेरी हेल्प करो।

तब तक रकीब अपने दोनों दोस्तों के संग वहां आ गया और उससे बोला-"जानेमन, आज मौका भी अच्छा हैऔर मौसम भी बहुत सुहाना है। तुम पूरी तरह से भीग गई हो। इसलिए इन कपडों को उतार दो। अच्छा लगेगा। और मज़ा भी आएगा। यह कहते हुए रकीब ने जबरदस्ती उसके टॉप के बटन खोल दिए। उसके बाकी दोनों दोस्त तमाशा देखते रहे। तब रकीब ने अपने दोस्तों से कहा-"देखता क्या है, कोचिंग अभी बंद है और पीछे का दरवाजा टूटा हुआ है । चल अंदर ले चल इसे । और वीडियो कैमरा सेट कर दे।

ठीक है गुरु। उन दोनों ने कहा, और फिर तीनों उसे जबरदस्ती उठाकर कोचिंग के अंदर ले गए। उन तीनों ने भी अपने कपड़े उतार दिए। और कुछ ही देर में रागिनी को भी निर्वस्त्र कर दिया और उसके साथ बलात्कार करने का प्रयास करने लगे। उसी समय इत्तेफाक से सायरन बजाती हुई एक पुलिस वैन उसी कोचिंग के सामने आकर रुक गई।

पुलिस का सायरन सुनते ही उन तीनों ने रागिनी को छोड़ दिया, और जैसे-तैसे अपने कपड़े पहने और वहां से भाग लिए। तभी उनमें से एक ने कहा, गुरु, वो वीडियो कैमरा तो वहीं है!

गुरु बोला, कोई बात नहीं। इस समय कैमरा साथ होगा, और पकड़े जाते, तो फंस जाते। इसलिए कैमरा बाद में ले लेंगे। और फिर उस वीडियो को उसे दिखा कर रोज उसका रेप करेंगे..! और वो बेचारी शर्म के कारण किसी से कुछ न कहेगी, और हमारे इशारों पर नाचने को मजबूर हो जाएगी..!

तभी रीना वहां आ गई, जिसे देखते ही रागिनी उससे लिपट कर रोने लगी। रीना ने उस कैमरे को ढूंढ निकाला और रागिनी के साथ अपने घर आ गई। फिर उसने उस वीडियो को चला दिया जिसमें उन तीनों लड़कों और रागिनी की वीडियो रिकॉर्डिंग थी। वीडियो में तीनों के चेहरे साफ साफ दिख रहे थे। उनका पूरा नंगा जिस्म भी दिख रहा था। और रागिनी के कपड़े उतारने और उससे बलात्कार का प्रयास करने का भी दृश्य था।

रीना ने कहा-"तू डर मत और शर्म भी मत कर। तेरी शर्म का ही लाभ उठाकर यह लड़के तेरे साथ कमीनापन करते हैं। मैं इस वीडियो को अभी एडिट करती हूं। इसको मैं इस तरह एडिट करती हूं , कि इसमें तेरा चेहरा बिल्कुल नहीं दिखेगा लेकिन इनका नंगा जिस्म और तेरे को नंगा करने का प्रयास करते हुए, यह सारी सीन इस वीडियो में होंगे। इस वीडियो में तेरी पहचान तो नहीं होगी, पर इन तीनों लड़कों की पूरी पहचान होगी !"

"ये अमीरजादे लड़के लड़कियों के वीडियो को वायरल करने की धमकी देकर उनको ब्लैकमेल करते हैं। लेकिन आज मैं इस वीडियो को वायरल कर के इनके घर वालों को और इनके सारे रिश्तेदारों को इस वीडियो की कापी भेजुंगी। और फिर तुम देखना कि ये भूल कर भी यहां नजर नहीं आएंगे ।

अगर सीधे पुलिस के पास जाओ, तो ये पुलिस भी हमसे 10 तरह के उल्टे सीधे सवाल पूछती है। लेकिन नहीं। अब हम कहीं नहीं जाएंगे, बल्कि इस वीडियो को वायरल कर देंगे। जब यह वीडियो वायरल हो कर इनके अम्मी, बाप और सारे नाते, रिश्तों में पहुंचेगा और सारी दुनियां भी इस वीडियो को देखेगी, तो इनका जीना दूभर हो जाएगा । घर से निकलना मुश्किल हो जाएगा इनका..! यहां तक कि इनको खुद से ही नफरत होने लगेगी..!

और वही हुआ ! रीना ने उस वीडियो को एडिट करके वायरल कर दिया ! फेसबुक, व्हाट्सएप और सारे ग्रुप में उस वीडियो को भेज दिया! बाद में पता लगा कि इन अमीरज़ादों को उनके घर वालों ने ही अपने घर से निकाल दिया, क्योंकि उन्होंने उनके घर की इज्जत को मिट्टी में मिला दिया था।

फिर कई दिनों तक ये तीनों कहीं नजर न आये। क्योंकि रीना ने इन रेपिस्टों का ही बलात्कार कर दिया था। ये जहां भी जाते, इनके कपड़ो के पीछे छुपा हुआ इनका नंगा बदन कुछ ही दिनों बाद लोगों को दिखने लगता। इनका जीना मुश्किल हो गया। उधर पुलिस भी उनको ढूंढने में लगी हुई थी। और इसका परिणाम इतना भयंकर हुआ कि दस दिन बाद ही इनकी लाशें गोमतीं में तैरती नज़र आई..! पर सच्चाई को जानते हुए भी उनके घर वालों ने उनकी लाश को पहचानने तक से इनकार कर दिया..! बाद में सरकारी खर्चे से उन्हें दफ़ना दिया गया..!


Rate this content
Log in

More hindi story from Vijaykant Verma

Similar hindi story from Tragedy