Piyush Goel

Abstract


3.5  

Piyush Goel

Abstract


नेताओ के खोखले वादे

नेताओ के खोखले वादे

5 mins 30 5 mins 30


भारत एक लोकतांत्रिक देश है । लोकतंत्र में राजा को प्रजा द्वारा चुना जाता है । लोकतंत्र में एक पंक्ति का विशेष महत्व है । वो पंक्ति है

राजा प्रजा के लिए होता है , प्रजा राजा के लिए नहीं ।

लोकतंत्र में अनेको सरकार होती है और वह चुनाव आने से पहले कई बड़े बड़े दावे करती है पर चुनाव जीतने के बाद वो कोई वादा पूरा नही करता

पात्र परिचय

वंश : पार्टी अध्यक्ष       ( घोड़ा पार्टी )

सुमित : पार्टी कार्यकर्ता   ( घोड़ा पार्टी )

अमित: पार्टी महासचिव     ( घोड़ा पार्टी )

कुनाल: पार्टी अध्यक्ष            ( हाथी पार्टी )

मोनालिका : पार्टी कार्यकर्ता  (  ( हाथी पार्टी )

प्रेरणा       : पार्टी महासचिव   ( हाथी पार्टी )

अमन : गरीब

अंजली : गरीब

अर्पित : गरीब

चुनाव आने वाले है और घोड़ा पार्टी के सदस्य चर्चा कर रहे हैं।

वंश : "चुनाव आने वाले हैं । हमे कुछ करना होगा जिससे कि हमारी पार्टी चुनाव जीत जाए और हमारा देश पर शासन हो सके ओर सारा खजाना हमारा हो सके ।"

सुमित : "हाँ ! जीतेंगे तो हम ही ।"

अमित : "पर हमे कुछ तो करना होगा ।"

वंश "मुझे लगता है कि हमे मीडिया के सामने जाकर लोगो से बात करनी चाहिए ।"

अमित : "नही ! क्योकि अगर हमने मीडिया के सामने हमने कुछ कहा तो हमारे विरोधोयो को दूसरा वार करने का मौका मिलेगा और वो जरूर हमारी पार्टी की प्रतिक्रिया पर ही कोई पलटवार् करेंगे । इसलिए पहले हमें उनकी प्रतिक्रिया का इंतज़ार करेंगे ।"

वंश : "सुमित ! तुम्हारा इस बारे में क्या विचार है ?"

सुमित : "मुझे भी लगता है कि ऐसा ही होना चाहिए । आपको यह निर्णय लेना चाहिए ।

वंश : ठिकहे । हम ऐसा ही करेंगे ।"

अब यह थी घोड़ा पार्टी की बात अब चलते है हम हाथी पार्टी की तरफ जहाँपर पर भी ऐसी ही कुछ बाते हो रही है

कुनाल : "चुनाव आ रहे हैं और हमे पांच साल हो चुके हैं तो अब हमें ओर भी कुछ ऐसी चीज़ें करनी होगी जिससे कि देश पर हमारा राज ही रहे । ओर देश के खजाने को लूट सके ।"

मोनालिका :" हाँ ! पर हमें अब लोगों के सामने जाना होगा । रैलियां करनी होगी और हमे मीडिया के सामने जाना होगा ।"

प्रेरणा : "हाँ ! सबसे पहले हमें रैलियां करनी होगी और वादे करने होंगे ।"

मोनालिका : "पर वो तो हमे पूरे भी करने होंगे ।"

कुनाल :" नही ! बस हमे लम्बी लम्बी फेंकनी है ।"

प्रेरणा : "हाँ सही कहा एक काम करो अभी ही रैली निकालते हैं ।"

कुनाल :"हाँ । चलो"

अब कुनाल रैली निकालते हैं और उसमें वह जनता को सम्भोदित करते हुए कहते हैं

कुनाल : "हमारी सरकार ने देश को पिछले पांच सालों में सबकुछ दिया है जो की अब तक देश को नही मिला था । देश मे अब कोइ गरीब नही है । हमने 1 करोड़ रुपए हर गरीब के खाते में डलवाये है । हमने देश के विकास के लिए उचित शिक्षा दी है । हमने गरीबो को रोजगार दिया है । हम ऐसे ही आगे भी करते रहेंगे ।हमने देश के विकास के लिए कई पर्यटन किये है और हम उनमे सफल भी हुए है । हमे पूरा विश्वास है कि इस बार भी जनता हमे ही वोट देंगी । हम आगे भी ऐसे ही कार्य करते रहेंगे । हमे लोगो पर राज नही लोगो की सेवा करनी है । हमें अपना पूरा सेवा भाव लोगो को समर्पित करना है । ऐसा करने से ही राष्ट्र की उन्नति होगी । हम किसानों को फ़स्लो के उचित दाम देंगे । हमारी सरकार गरीबो के लिए भी कार्य करेंगी । हमे सदैव आपका प्रोत्साहन मिलता रहे ।"

ऐसे ही कुणाल ने बड़ी बड़ी बातें करी पर वो कुछ नही कर सकता था क्योंकि लोगो को उसकी असलियत पता चल गई थी । अब देखिए घोड़ा पार्टी में क्या चल रहा है ।

सुमित : "अब हमें भी कुछ करना होगा ।"

अमित : "हां अब हम भी रैली करेंगे और वोट मांगेंगे ।"

वंश : "हां ! अब हम रैली करेंगे और फिर हम देश को जीतेंगे ।"

अमित : "हां"

अब वंश भी रैली करते हैं ओर वह अपनी रैली में कहते हैं

वंश : "मेरे प्यारे देशवासियो ! मेरी आपसे अपील है कि आप हमारी सरकार को ही वोट दे अगर हमारी सरकार आयी तो वह वो सब करेगी जो की देश पिछले पांच सालों में नही हासिल कर पाया । हम आपसे वादा करते है कि अगर आपने हमारी सरकार को जीताया तो किसी को भी सड़क पर नही सोना पड़ेगा । हम अन्य दलों की तरह ज्यादा बोलेंगे नही बल्कि हम करकर दिखाएंगे । हम आपसे वादा करते है की आपको हमारी सरकार से कोई भी आपत्ति नही होगी । हमारी सरकार गरीबो का ऋण माफ करवाएंगी । हर जगह अच्छा पानी आएगा । कोई भी भूखा नही रहेगा । कोई भी आसमान को अपनी छत बनाकर नही सोएगा । हमे ही वोट दीजिएगा ।"

ऐसे ही कुनाल ने भी बड़े बड़े वादे किए अब गरीब लोग आपस मे चर्चा कर रहे हैं।

अमन :" पिछले पांच सालों में तो हमे कोई फायदा मिला नही । शायद इस बार मिल जाए ।"

अर्पित : "हाँ ! ये पार्टी शायद कुछ कर दे ।"

अंजली :" हां ! यह हमारे विकास के लिए कुछ तो करेगी और हमे ऐसे खुले में सोना नही पड़ेगा ।

अर्पित : "हम घोड़ा पार्टी को ही वोट देंगे ।"

बड़े बड़े वादे सुनकर् गरीबों ने घोड़ा पार्टी को जिता दिया ओर अब पार्टी में चर्चा हो रही है

वंश : "अब तो हम पांच साल तक देश पर राज करेंगे ।"

सुमित : "हां ! अब हमें कुछ नही करना है बस लोगो से झूठे वायदे करने हैं ।"

अमित : ंहाँ ! अब हमें कुछ नही करना है "

तो देखा आपने नेता ऐसे ही वादे करते रहते हैं ओर् जितने के बाद कुछ नही करते ।

      



Rate this content
Log in

More hindi story from Piyush Goel

Similar hindi story from Abstract