scorpio net

Horror


3.9  

scorpio net

Horror


खूनी बावड़ी

खूनी बावड़ी

4 mins 12K 4 mins 12K

"हैप्पी बर्थडे मयूर ", चल उठ जा, आज पार्टी करेंगे ..मेरे यार का बर्थडे है ..हो ..आज मेरे यार का बर्थडे है... अब उठ भी

जा यारा ....."- आकाश ने मयूर को विश किया , जो की अभी अभी सोया था। 


"हाँ , यार ....ले उठ गया ..और ये बता तुझे याद कैसे रहा कि आज मेरा बर्थडे है? क्योंकि तुझे तो एग्जाम कि डेट याद नहीं

रहती मेरा बर्थडे कैसे याद रहा ?- मयूर ने पूछा। 

" अरे ....आज मेरे यार, मेरे जिगरी दोस्त का बर्थडे है इसको कैसे भूल सकता हूँ मैं, तेरा बर्थडे मैंने नोट किया हुआ है

मोबाइल कैलेंडर में और अलार्म भी सेट किया है और देख आज 12 बजते ही ये अलार्म बजा और तुझे मैंने बर्थडे विश किया "

- इतना कहना था आकाश का की मयूर हँस पड़ा ..और बोला की " वाह यार तूने तो बहुत मेहनत किया है मेरा बर्थडे याद

रखने के लिए ..पर "थैंक यू सो मच" की तुझे मेरा बर्थडे याद रहा ....तू मेरा सबसे अच्छा दोस्त है ..थैंक यू यार .."

" अरे , तेरे लिए एक गिफ्ट भी है, सिर्फ बर्थडे थोड़े ही याद किया तेरे लिए तेरी पसंद का गिफ्ट भी है मेरे पास " - आकाश ने

मयूर की तरफ देखते हुए बोला । 

" वाह , यार ..तू तो सच में मेरा सबसे अच्छा दोस्त है, तू कितना कुछ सोचता है मेरे लिए " - इतना कह कर मयूर आकाश

को गले लगा लेता है।


"अब रुलाएगा क्या पगले, चल बस कर ये केक खा और चल तुझे तेरा गिफ्ट दिखाऊ " - आकाश ने टॉर्च को ठीक करते हुए बोला। 

"क्या ..इतनी रात में ..यार , 2 बज रहे हैं अभी और इतनी रात को कौन सा गिफ्ट देने वाला है तू " - मयूर थोड़ा परेशान हो

कर अपनी भौ सिकोड़ते हुए बोला । 

"तू डरता बहुत है, तेरा भाई है ना तेरे साथ, चल तो सही..." -आकाश मयूर का हाथ पकड़ कर उसको दरवाज़े की तरफ ले जाता है ..दोनों दरवाज़े से बाहर निकलते हैं और बाहर से कुण्डी लगा कर दरवाज़े पर सुनसान सड़क पर निकल पड़ते है... 

"यार, कहाँ जा रहे हैं हम, देख 3 बजने वाले है और ....."- मयूर के इतना बोलते ही आकाश बोलता है की "यार तूने ही

कहा था ना की कहीं एडवेंचर पर चलते हैं, कुछ तूफ़ानी करते हैं, तो देख हम आ गए" राजा की बावड़ी पर।" 


मयूर तभी गुस्से में बोलता है - "यार तूने मुझे पहले बताया होता तो मैं इतने रात को कभी यहाँ नहीं आता, तुझे नहीं पता की इसके बारे में लोग क्या क्या कहते हैं। "

"मुझे सब पता है यार, पर जो भी कुछ सुना है इस बावड़ी के बारे में मुझे तो अंधविश्वास लगता है ..और वैसे भी तुझे एडवेंचर पर जाना था और मुझे इस बावड़ी का सच जानना था इसलिए मैंने सोचा के तेरे जन्मदिन पर तुझे ये एडवेंचर कराने ले आऊंगा और साथ में मैं यहाँ का सच भी जान लूँगा" - आकाश ने मयूर का गुस्सा शांत करने के लिए बोला। 

"ठीक है, तू मेरे साथ है तो कोई डर नहीं है मुझे, चल जो होगा देखा जायेगा ..पर हम ज्यादा देर नहीं रुकेंगे यहाँ "- मयूर आकाश से बोलता है। 

" हाँ , मेरी जान हम 10 मिनट में यहाँ से चले जायेंगे, आ इधर बैठ और देख कितना सुन्दर लग रहा है चाँद की रोशनी जब पानी पर गिर रही है और उससे पूरी बावड़ी चमक रही है ...." - आकाश मयूर से बोलते हुए इस सुन्दर नज़ारे में खो जाता है ....

तभी उन दोनों को पायल की आवाज़ सुनाई देती है ..दोनों देखने के लिए की कौन है जो इतनी रात गए बावड़ी में घूम रहा है, पायल के आवाज़ के पीछे जाते है..जाते जाते वो एक खुली जगह पर पहुँचते है पर अचानक से पायल के आवाज़ आने बंद हो जाती है..दोनों कुछ समझ नहीं पाते हैं की फिर से पायल की आवाज़ आती है और ऐसे लगता है की कोई बावड़ी में पायल पहन कर दौड़ रहा है ....

आकाश मयूर से कहता है की " हम अलग अलग हो कर आवाज़ का पीछा करेंगे, मुझ तो लगता है के कोई हमारे साथ मज़ाक कर रहा है की हम डर कर चले जाएं इस आवाज़ से ..पर हम नहीं डरेंगे और आवाज़ का पता लगाएंगे "....मयूर अपने सबसे अच्छे दोस्त को दुखी नहीं करना चाहता है इसलिए वो उसकी हाँ में हाँ मिला देता है और दोनों अलग अलग हो कर आवाज़ का पीछा करने लगते है ....तभी अचानक आवाज़ आने बंद हो जाते है और मयूर को आकाश की चीख़ सुनाई देती है ..वो भागता हुआ आकाश के आवाज़ की तरफ दौड़ता है और पहुंच कर देखता है की आकाश के ऊपर एक बड़ा सा पत्थर गिरा हुआ है और उस पत्थर के गिरने से उसके दोस्त की मौत हो गई है ....वो वहाँ बैठ के रोने लगता है और रोते रोते वही सो जाता है ..सुबह जैसे ही उसकी नींद खुलती है वो देखता है के लोग उसके आस पास जमा हैं ... 

वो लोगों के पास जा कर मदद की गुहार लगाता है ..पर उसे अहसास होता है की कोई उसको सुन नहीं पा रहा है ..तभी वो पीछे मुड़ता है और जो मंज़र उसको दिखता है उसको देख कर उसके होश उड़ जाते है ..मयूर देखता है की उसके ऊपर भी एक बड़ा पत्थर गिरा हुआ है और वो मर चुका है ...

बावड़ी के पास खड़े हुए लोग कहते है के देखो फिर इस खूनी बावड़ी ने जान ले ली दो लोगों की ...



Rate this content
Log in

More hindi story from scorpio net

Similar hindi story from Horror