Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer
Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer

shruti chowdhary

Tragedy Action Fantasy

4  

shruti chowdhary

Tragedy Action Fantasy

वक़्त की बात है

वक़्त की बात है

1 min
249


अभी खामोश हूँ

क्योंकि बोलने का वक़्त नहीं

हुनर को टटोल रही हूँ

बेहतर है मेरा काम जवाब दे

खुद पर विश्वास है असीम,


अटल,अपराजित, अगाध

ये आत्मविश्वास है

आत्म मुग्धता नहीं

मैं खुश रहूँ और

दुनिया सराहे मुझे

माता पिता सर उठाकर कहें


बेटी है हमारी

दुश्मनों को जलाने का

उद्देश्य नही कोई

वो स्वयं जल बुझ जायेंगे

ख़ाक को राख बनाने की ताकत


समय से आगे चलने की ख्वाइश

छोटी खुशियों में तलाशती अनंत स्वर्ग

पंख छीने हैं कई बार कुदरत ने

ए जिंदगी, नाराज़ न होना


मैं वो ककनूस हूँ जो

हर बार फिर 'मैं' बनकर

प्यार की नई कहानी लिखेगी।


Rate this content
Log in