Buy Books worth Rs 500/- & Get 1 Book Free! Click Here!
Buy Books worth Rs 500/- & Get 1 Book Free! Click Here!

Surekha Awasthi

Fantasy Inspirational


4  

Surekha Awasthi

Fantasy Inspirational


प्रमाणपत्र

प्रमाणपत्र

1 min 496 1 min 496

मैं से मेरा होना प्रमाण पत्र है मेरा

हर चीज का प्रमाण पत्र, प्रमाण है मेरा 

पहले प्रमाणिकता का ज्ञान मिला मुझे 

जब जन्म लेते ही प्रमाण मिला मुझे 


की मेरा जन्म लेना भी प्रमाणित हुआ है 

और मेरा जन्म प्रमाण पत्र जारी हुआ है 

शाला के हर चरण मे प्रमाण पत्र का मिलना 

हर सामाजिक और शैक्षिक गतिविधियों को तौलना 


मेरी सार्थकता को प्रमाणित किया गया 

और हर गितिविधियों मे प्रमाण पत्र जारी किया गया 

फिर ऐसी बुद्धिमत्ता का विकास हुआ मेरा 

की प्रमाण पत्र सफलता का प्रमाण हुआ मेरा 


की अब हर चीज की प्रमाणिकता 

प्रमाण पत्र पर ही समझ मे आती है मुझे 

क्यूंकि प्रमाण पत्र

नौकरी, पैसा, और सम्मान दिलाती है मुझे 


अब जब तक किसी कार्य से प्रमाण पत्र ना मिले मुझे 

फिर सारी वयवस्था फर्जीदारी नजर आती है मुझे 

कुछ ऐसा मिज़ाज बन गया है मेरा 

जैसे प्रमाण पत्र जीवन सार हो मेरा 


मैं से मेरा होना प्रमाण पत्र है मेरा 

हर चीज का प्रमाण पत्र प्रमाण है मेरा 

पहले साल के आखिर मे, जारी हुआ प्रमाण पत्र मेरा 

फिर हर घटना स्थिति पर, प्रमाण पत्र रौबदारी हुआ मेरा 


आय से लेकर जाती तक का प्रमाण चाहिए 

सरकारी वयवस्था को भी कागज का अनुमान चाहिए 

अरे एक कागज का टुकड़ा क्या प्रमाण हुआ मेरा 

मैं कैसा भी हूँ, कागज समाधान हुआ मेरा 


अगर महज एक कागज से 

जन्म मरण जाती योग्यता नर्धारित होता है मेरा 

तो फिर क्यों जीवन संघर्षमय और बेलगाम हुआ मेरा 

मैं से मेरा होना प्रमाण है पत्र है मेरा 

हर चीज का प्रमाण पत्र प्रमाण है मेरा।


Rate this content
Log in

More hindi poem from Surekha Awasthi

Similar hindi poem from Fantasy