Participate in the 3rd Season of STORYMIRROR SCHOOLS WRITING COMPETITION - the BIGGEST Writing Competition in India for School Students & Teachers and win a 2N/3D holiday trip from Club Mahindra
Participate in the 3rd Season of STORYMIRROR SCHOOLS WRITING COMPETITION - the BIGGEST Writing Competition in India for School Students & Teachers and win a 2N/3D holiday trip from Club Mahindra

Jyotshna Rani Sahoo

Romance Fantasy


4  

Jyotshna Rani Sahoo

Romance Fantasy


मुझसे प्यार उतना

मुझसे प्यार उतना

3 mins 365 3 mins 365


जब मैं प्यार ना करूं तुमसे

तुम फिर भी प्यार करना

भटकता ये दिल

जो ना ठहरे कहीं

यार मेरे लिए थोड़ा रुकना पड़े

तो रुक जाना

क्या तुम कर सकते हो

मुझसे प्यार उतना?

मैं भूल जाऊंगी

जब पुरानी यादों को

तुम कुछ नया यादें बना लेना

मैं जब हर वक्त रूठती हूं

मेरे मानने तक

मुझे मनाते रहना

क्या तुम कर सकते हो

मुझसे प्यार उतना?


भूली भटकी अगर भटक जाऊं

या अंधेरे में गुम हो जाऊं

गुमशुदा प्यार समझ

मुझे ढूंढ लेना

मुझे दगाबाज समझ

कभी मुंह फेर मत लेना

क्या तुम कर सकते हो

मुझसे प्यार उतना?

मैं अगर कभी

खुद को भी ना पहचानूं

तुम मुझे याद दिलाना

मैं बस तुम्हारा हूं

यह बात दोहराते जाना

मेरे बेवकूफी में कभी नहीं हँसना

क्या तुम कर सकते हो

मुझसे प्यार उतना?


अगर कभी बोलूंगी

चली जाओ मेरे जिंदगी से

फिर भी तुम मुझे याद दिलाना

अरे अपनी जिंदगी से दूर जाकर

आसान हो जाता है मरना

मुझे बस तुम्हारे साथ है जीना

क्या कर सकते हो

मुझसे प्यार उतना?


अगर मेरे राहों पर

काटें भरे हो

तो तुम भी उन पर मेरे साथ चलना

अगर मैं भटक जाऊं राहों से

तुम हाथ पकड़ सही रिश्ता दिखाना

मेरे सारी उलझनों को सुलझा कर

सुनहरी ख़्वाब दिखाना

क्या कर सकते हो

मुझसे प्यार उतना?


जब सारी दुनिया

मुझे दुत्कार देंगे

मैं अकेली एक तरफ

वो सब उस छोर इकट्ठे होंगे

तब बस तुम मेरे तरफ आना

सही गलत का तोल मोल ना कर

तुम बस मेरे साथ देना

तुम मेरे ताकत बनना

क्या कर सकते हो

मुझसे प्यार उतना?


जान बूझकर मुझसे गलती नहीं होगा

अगर गलती से गलती हो गया

मेरे बचपना समझ माफ करना

बचपन से थोड़ी झल्ली हूं

मुझे बदलने की कोशिश मत करना

कोई फैसला करने से पहले

मुझे थोड़ा दिल से

समझने की कोशिश करना

क्या कर सकते हो

मुझसे प्यार उतना?


मेरे परिवार की जान हूं

घर की स्वाभिमान हूं

तुम भी हो हिस्सा मानती हूं

उन पर अपनी जान छिड़कती हूं

दिल से उन्हें अपनाना

तुम भी उनका सम्मान करना

मैं भी मानूंगी तुम्हारे परिवार को दिल से

तुम्हारा मेरा नहीं सब हमारा बोलना

क्या कर सकते हो

मुझसे प्यार उतना?


मेरे सपनों की बीच

अगर हमारे प्यार रुकावट बने

तुम पहले सपनों को चुनना

मैं भी तुम्हारे सपनों को अपना मानूंगी

तुमसे ज्यादा उन्हें सराहूँगी

कभी भी तुम मेरे कमजोरी नहीं बनना

बस हमेशा मेरे ताकत बनना

क्या कर सकते हो

मुझसे प्यार उतना?


लोग जो खूबसूरती के पीछे भागते है

तुम रूह के राह पर चलना

मेरे टूटे हुए दिल की

गहराई तक जाकर प्यार करना

ये खूबसूरती ढले तो ढल जाने देना

पर तुम यूं प्यार करते रहना

हर पल जनम जनम साथ निभाना

मुझे प्यार पे विश्वास दिलाते रहना

प्यार का एक मिसाल कायम करना

क्या कर सकते हो

मुझसे प्यार उतना?


Rate this content
Log in

More hindi poem from Jyotshna Rani Sahoo

Similar hindi poem from Romance