Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
योग
योग
★★★★★

© Anantram Choubey

Drama

1 Minutes   7.0K    7


Content Ranking

जीवन के आखिरी

पड़ाव मे क्या चाहिये ?

श्रद्धा भक्ति भाव से

ईश्वर का भजन चाहिये !


योग नही भोग नही

मोह माया कुछ नही

राम नाम लेते रहो

तभी पार हो पाओगे।

जीवन के मोक्ष का

द्वार खोल पाओगे ।


सत्य यही सच यही

बाकी मायाजाल है ।

जीवन का जन्जाल है ।

धर्म और कर्म करो

और सब का त्याग करो ।

जीवन की भूल भुलैयो से

तभी पार हो पाओगे ।


योग भोग छोड़कर ही

तभी मुक्ति पाओगे ।

जीवन सफल बनाओगे ।


Life Religion Spiritual

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..