Himanshu Sharma

Tragedy


4.5  

Himanshu Sharma

Tragedy


रक्षक और रक्षा

रक्षक और रक्षा

1 min 24.1K 1 min 24.1K

"आप और भाभी जी बुज़ुर्ग हैं, अपनी सुरक्षा के लिए लाइसेंसी बन्दूक के लिए आवेदन किया है समझ आता है, पर आपका बेटा जो अभी २२ साल का है उसको बन्दूक क्यों दिलवा रहे हैं, वो तो अभी पढ़ रहा होगा न?" फॉर्म देनेवाले बाबू ने एक बुज़ुर्ग को फॉर्म देते हुए पूछा।

"जी। हम ये बन्दूक बुज़ुर्ग होने की वजह से नहीं ले रहे हैं दरअसल मैं और मेरी बीवी, हम दोनों डॉक्टर हैं, मरीज़ को बचाने से पहले आजकल के माहौल में खुद को बचाना ज़्यादा ज़रूरी है। ज़िंदा रहे तो ही तो मरीज़ को इलाज़ कर पाएंगे। " बुज़ुर्ग ने जवाब दिया।

"परन्तु बेटे के लिए बन्दूक?" बाबू ने दुबारा प्रश्न किया।

"जी। उसकी भी एम् बी बी एस ख़त्म हो गयी है और वो भी अब काम पर लगनेवाला है। "

बाबू तभी से निरुत्तर है और खुद के बेटे के लिए फॉर्म भर रहा है।


Rate this content
Log in

More hindi story from Himanshu Sharma

Similar hindi story from Tragedy