Buy Books worth Rs 500/- & Get 1 Book Free! Click Here!
Buy Books worth Rs 500/- & Get 1 Book Free! Click Here!

Gajanan Pandey

Classics


2.4  

Gajanan Pandey

Classics


कर्म ही पूजा है

कर्म ही पूजा है

2 mins 12.2K 2 mins 12.2K

एक बार एनी बेसेन्ट को किसी समारोह की अध्यक्षता करने के लिए जाना था ।आयोजक जब उन्हें लेने उनके घर गये तो उस समय वह लैम्प को साफ कर रही थी । यह देखकर उस व्यक्ति ने कहा ' आप जैसी विदुषी महिला को यह शोभा नहीं देता है - - - वह व्यक्ति कुछ आगे कहता उसके पहले एनी बेसेन्ट ने कहा ' मेरे लिए किसी समारोह की अध्यक्षता करना और घर की साफ - सफाई करना एक जैसा महत्वपूर्ण कार्य है ।'

अमेरिका के राष्ट्रपति रहे लिंडन जॉनसन ने गर्मी की छुट्टियों में पैसा कमाने के लिए नौ साल की उम्र में जूता पालिश का काम किया था ।बाद में वे बस चालक बने और वेटर का काम भी किया,अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने उम्र के एक पडाव में आइसक्रीम बेची और गिफ्ट शाप में भी काम किया।

अमेरिका के लोकप्रिय राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन एक बार अपने गृह नगर में एक जन सभा को संबोधित कर रहे थे ।भाषण के मध्य एक महिला ने कहा ' अरे ! ये तो हमारे गांव के मोची का लड़का है ।'

अब्राहम लिंकन, उस महिला की बात सुनकर विचलित नहीं हुए और जवाब में कहा, ' हां! मैं गांव के मोची का बेटा हूं और उन्होंने उस महिला से पूछा क्या आप बतायेगी 'मेरे पिता ने आपके जूतों की ठीक से मरम्मत तो की थी ना ! '

उस महिला ने कहा ' आपके पिता एक कुशल मोची थे और वे अपना काम पूरी एकाग्रता से करते थे ।'

यह सुनकर अब्राहम लिंकन ने उस महिला से कहा कि ' जैसे मेरे पिता ने अपने काम से आपको शिकायत का कोई मौका नहीं दिया ठीक वैसे ही मेरे काम से भी आपको मुझे कुछ कहने का मौका नहीं मिलेगा । '

फिल्म निर्माता पृथ्वीराज कपूर ने अपने पुत्र राज कपूर को अपने साथ जुडने के पहले सीखने के प्रयोजन से उन्हें अपने मित्र केदार शर्मा के पास सहायक के रूप में कार्य करने के लिए भेजा था ।



Rate this content
Log in

More hindi story from Gajanan Pandey

Similar hindi story from Classics