Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer
Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer

Vineeta Joshi

Romance

1  

Vineeta Joshi

Romance

कोई तो बात जरूरी है

कोई तो बात जरूरी है

1 min
238


बरसे बादल चाहे जितना,

फिर भी प्यास जरूरी है,


मानो न मानो नमक के बाद,

थोड़ी मिठास जरूरी है


मिलते ही वो आँखें फेरे, 

आज कोई तो बात जरूरी है।



Rate this content
Log in

Similar hindi poem from Romance