Exclusive FREE session on RIG VEDA for you, Register now!
Exclusive FREE session on RIG VEDA for you, Register now!

डॉ मंजु गुप्ता

Tragedy Inspirational Others


4.4  

डॉ मंजु गुप्ता

Tragedy Inspirational Others


दोहों में पर्यावरण

दोहों में पर्यावरण

2 mins 303 2 mins 303

बिगड़ गया पर्यावरण, उठते आज सवाल।

इस मानव की स्वार्थ से, प्रकृति हुई बेहाल। 1


औद्योगिक कचरा करे, जग जीवन का नाश।

जहर भरे परिवेश से, करे विकास निराश। 2


औद्योगिक कचरा बहा, करें नदी नर्जीव।

जहरीला जल को करे, बचे न कोई जीव। 3


नहीं प्रदूषित जल करो, जल सदा मूल्यवान।

जल धरती का कल बना, जल ही जीवन प्राण। 4


जब से जंगल कट रहे, बरसे न आसमान।

महमारी सूखा सदा, बुला रहा इंसान।। 5


दूषित पर्यावरण का, नर खुद जिम्मेदार।

बुला रहा बीमारियाँ, मानवता बेजार। 6


जंगल में कंक्रीट के, गई हरितिमा खोय 

सूखे खेतों को लखे, खुशहाली अब रोय। 7


छेद, परत-ओजोन से, बढ़े सूर्य का ताप।

सब जीव - जन्तु मर रहे, गर्मी, लू अभिशाप ।8


फोड़, पटाखे, चकरियाँ, मचा रहें हैं शोर।

करते ध्वनि प्रदूषण ये, करें कान कमजोर। 9


कर जंगल बर्बाद सब, बनते आज मकान।।

पड़ती कुदरत मार जब, लाती हैं तूफान।।10


काट काट कर, वृक्ष सब, करी धरा वीरान ।

फिर ग्लोबल वार्मिंग से, होते क्यों हैरान। 11


विकास के उपकरण से, होते वन बर्बाद।

संकट छाया साँस पर, रहे नहीं आबाद । 12


नदियों का गठजोड़ कर, बना रहें वे बाँध ।

उनकी रोके राह खुद , पर्यावरण सड़ाँध। 13


अगर परिवेश न सुधरा, बुरी बने तस्वीर ।

नहीं रहेगा आशियाँ ,  रोए खुद तकदीर ।14


जल ,वन, है भू-संपदा, नहीं करो बम-वार ।

ग्लोबल वार्मिंग उपजे, करे प्राण संहार। ।15


बना सुरंगें - बाँध से, नदियाँ जी जंजाल ।

कहर केदार नाथ का, आया बनकर काल। 16


सूख नदी, पोखर रहे, जल- संकट घनघोर।

तोड़े जीवन दम कभी, मचा शोर सब ओर।17


निषेध प्लास्टिक का करो, बने कड़े कानून ।

ये भू को बंजर करे, नहीं समस्या न्यून।18


चिड़िया हो गायब रहीं, फैले टावर- जाल ।

बीमारी भी बढ़ रही, बुला रहा नर, काल ।19


नस्ल- नयी को दे हम यह संतुलन उपाय।

वैदिक- संस्कृति से सदा, पर्यावरण बचाय ।20


करें खत्म पर्यावरण, दें, भू को उपहार।

छत, खिड़कियाँ, आँगन में, उगा पौध- परिवार। 21 



Rate this content
Log in

More hindi poem from डॉ मंजु गुप्ता

Similar hindi poem from Tragedy