Participate in the 3rd Season of STORYMIRROR SCHOOLS WRITING COMPETITION - the BIGGEST Writing Competition in India for School Students & Teachers and win a 2N/3D holiday trip from Club Mahindra
Participate in the 3rd Season of STORYMIRROR SCHOOLS WRITING COMPETITION - the BIGGEST Writing Competition in India for School Students & Teachers and win a 2N/3D holiday trip from Club Mahindra

Pramod Bhandari

Drama


4  

Pramod Bhandari

Drama


चम चम करता ताज है बेटी

चम चम करता ताज है बेटी

1 min 33.4K 1 min 33.4K

चम चम करता ताज है बेटी

हमको तुझ पर नाज़ है बेटी ।


मीठी बाते प्यारी बाते

दिल को भाती सारी बाते,

खन खन करती पायल है तू

एक सुरीला साज है बेटी ।

चम चम करता ताज है बेटी

हमको तुझ पर नाज़ है बेटी ।


चेहरा तेरा भोला भाला

फ़ैलाता हर और उजाला,

तुझसे ही है घर की रौनक

खुशियों का आगाज़ है बेटी ।

चम चम करता ताज है बेटी

हमको तुझ पर नाज़ है बेटी ।


भली लगे तेरी किलकारी

मानो दुनिया झूमे सारी,

कानों में गुंजन करती वो

एक मधुर आवाज है बेटी ।

चम चम करता ताज है बेटी

हमको तुझ पर नाज़ है बेटी ।


अंधियारे में भोर बनी

मजबूती की डोर बनी,

मां बापू का बनी सहारा

जीने का अंदाज है बेटी ।

चम चम करता ताज है बेटी

हमको तुझ पर नाज़ है बेटी ।


नई-नई मंजिले चुनती

सुन्दर सुन्दर सपने बुनती,

अटल भरोसा कल का है

आशाओं का आज है बेटी ।

चम चम करता ताज है बेटी

हमको तुझ पर नाज़ है बेटी ।


Rate this content
Log in

More hindi poem from Pramod Bhandari

Similar hindi poem from Drama