Click here to enter the darkness of a criminal mind. Use Coupon Code "GMSM100" & get Rs.100 OFF
Click here to enter the darkness of a criminal mind. Use Coupon Code "GMSM100" & get Rs.100 OFF

Harsh Singh

Abstract Drama Tragedy


4.8  

Harsh Singh

Abstract Drama Tragedy


ऐसा क्या हो गया?

ऐसा क्या हो गया?

1 min 388 1 min 388

आज इन शब्दों को क्या हो गया लफ़्ज़ों पर

आकर भी प्रभावहीन कैसे हो गया ?


ये मृतकों की भाँति गुमसुम और

बेजुबान कैसे हो गया ? 


ह्रदय में अलग एहसास है

मस्तिष्क में कुछ और 

ये कैसे संभव हो गया शब्द तूणीर में

पड़े बाण की भाँति रह गया ?


प्रतिकार करने वाले शब्द

आज मौन कैसे हो गया ?

कभी हार ना मानने वाले शब्द आज

सर झुकाने को विवश कैसे हो गया ?


सदा लालायित रहने वाले ये शब्द

आज प्रतीक्षा को कैसे सह गया ?

सदाचार की आवाज़ उठाने वाले ये

शब्द आज लाचार कैसे हो गया ?


यम को कंपाने वाले ये शब्द

आज उसी की गोद में सो गया।


Rate this content
Log in

More hindi poem from Harsh Singh

Similar hindi poem from Abstract