Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer
Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer

Anju Gupta

Romance

4.0  

Anju Gupta

Romance

अच्छा लगता है...

अच्छा लगता है...

1 min
196


इक खामोशी

अकसर फैल जाती है

हम दोनों में

कभी -कभी… इक दूजे में गुम होना

भी अच्छा लगता है !!


तेरा इंतजार

क्यों बन गया है

मुकद्दर मेरा

कभी -कभी… इन आँखों का छलकना

भी अच्छा लगता है !!


तू ही सपना

तू ही मंजिल

बन गये हो मेरी

कभी -कभी… चुप रह कर भी बात करना 

भी अच्छा लगता है !!



Rate this content
Log in