Swati Roy

Tragedy


5.0  

Swati Roy

Tragedy


बेटी, बहन या मां

बेटी, बहन या मां

1 min 279 1 min 279

उस हँसती खिलखिलाती चार साल की बच्ची में एक नारी आकृति मात्र की कल्पना से ही उन गिद्धों ने उस कोमल शरीर को नोंच डाला। 


आज भी उसकी आत्मा पूछती है कि क्या छोटे कपड़े पहने थे मैंने या देर रात अकेले घर लौट रही थी? क्या किसी अंजान से खुल के बातें कर रही थी या किसी को देख हंस रही थी?

क्या मेरे चेहरे पर मादकता थी या सिंदूर से भरी मांग थी मेरी?


पता है इन सवालों का जवाब ना मिला है ना मिलेगा फिर भी अंतहीन इंतजार में।

आप सबकी बेटी, बहन या माँ।



Rate this content
Log in

More hindi story from Swati Roy

Similar hindi story from Tragedy