Participate in the 3rd Season of STORYMIRROR SCHOOLS WRITING COMPETITION - the BIGGEST Writing Competition in India for School Students & Teachers and win a 2N/3D holiday trip from Club Mahindra
Participate in the 3rd Season of STORYMIRROR SCHOOLS WRITING COMPETITION - the BIGGEST Writing Competition in India for School Students & Teachers and win a 2N/3D holiday trip from Club Mahindra

Lakshman Jha

Inspirational


4  

Lakshman Jha

Inspirational


" स्वीकारा है सबको हमने "

" स्वीकारा है सबको हमने "

1 min 160 1 min 160


बड़े नहीं छोटों को भी ,

अभिनंदन हम करते हैं !

प्यार से जो जुड़ना चाहें ,

स्वीकार उसे भी करते हैं !!

 

सब हैं अपनों में दीवाने ,

अपनी धुन के मस्ताने !

अपनी प्रतिभा फैलाकर ,

देते हैं ये दिव्य खजाने !!


शिकवा शिकायत नहीं ,

कभी हम करना चाहें !

जैसे हैं वैसे ही अपना ,

लोगों को रूप दिखाएं !!


कटुता का यहाँ स्थान ,

कभी नहीं हो सकता !

अभद्रता की भाषा में ,

दीया नहीं कभी जलता !!


जो सामने आ जाए ,

तो उसका सत्कार करें !

दिल आहत जिससे भी ,

होता उसे अस्वीकार करें !!


हम मित्र तुरंत बनकर ,

सुंदर किला बनाते हैं !

छोटी - छोटी बातों को ,

लेकर फिर उलझ जाते हैं !


बड़े नहीं छोटों को भी ,

अभिनंदन हम करते हैं !

प्यार से जो जुड़ना चाहें ,

स्वीकार उसे भी करते हैं !!



Rate this content
Log in

More hindi poem from Lakshman Jha

Similar hindi poem from Inspirational