Hurry up! before its gone. Grab the BESTSELLERS now.
Hurry up! before its gone. Grab the BESTSELLERS now.

Anju Singh

Inspirational


4  

Anju Singh

Inspirational


सच्चा गुरु

सच्चा गुरु

1 min 364 1 min 364

जीवन पथ पर कई रास्ते हैं आते 

उन रास्तों को हम समझ ना पाते

जो सही रास्ते पर चलना सिखाता

वास्तव में वही सच्चा गुरु कहलाता


कोई भी अकेला कुछ सीख ना पाता

गर गुरु बनकर कोई साथ ना निभाता

पग पग पर परछाई बन जाता

वही तो सच्चा गुरु कहलाता


सुख में तो सभी हंसते हैं 

दुख में बस रोना रोते हैं

संकट में जो हंसना सिखाता

वही तों सच्चा गुरु कहलाता


इंसान कभी तो हद में रहता

और कभी जानवर बन बैठता

इन दोनों में जो अंतर बताता 

वही सच्चा गुरु कहलाता


धर्म जाति पर हर कोई लड़ता

गलत भावना ना कोई विसराता

प्रेम करना जो सिखाता 

वही सच्चा गुरु कहलाता


कैसें मिलेगी हमें सफलता

कैसें चढ़े शिखर बताता

मन में रोज ज्ञान पूंज भरता

वही सच्चा गुरु कहलाता


प्रेम सरिता की धारा बनकर

जीवन नैया पार लगाता

मंजिल पर है हमें पहुंचाता 

वही सच्चा गुरु कहलाता


डांट फटकार कर प्यार जताता

रोक-टोक कर चलना सिखाता

सदैव हमें आगे बढ़ाता 

वही सच्चा गुरु कहलाता


हर किसी की ढाल बनकर

भविष्य उनका उज्जवल बनाता

सही रास्ता है दिखाता

वही सच्चा गुरु कहलाता


सहारा गुरु का जो मिल जाता 

मन का अंधियारा मिट जाता

राह रौशनी से भर जाता

वही सच्चा गुरु कहलाता।


Rate this content
Log in

More hindi poem from Anju Singh

Similar hindi poem from Inspirational