Participate in the 3rd Season of STORYMIRROR SCHOOLS WRITING COMPETITION - the BIGGEST Writing Competition in India for School Students & Teachers and win a 2N/3D holiday trip from Club Mahindra
Participate in the 3rd Season of STORYMIRROR SCHOOLS WRITING COMPETITION - the BIGGEST Writing Competition in India for School Students & Teachers and win a 2N/3D holiday trip from Club Mahindra

SHAMANA GONDALIA

Classics Fantasy Inspirational


4  

SHAMANA GONDALIA

Classics Fantasy Inspirational


कैसे चलेगा ?

कैसे चलेगा ?

1 min 226 1 min 226

सफ़र अधूरा है, तु रुक गया तो कैसे चलेगा ?

इन तूफ़ानों के सामने तू झुक गया तो कैसे चलेगा ?


अभी तो रंग और बदलेंगे इंसानों के,

तू डर गया तो कैसे चलेगा ?


मौसम अभी बहोत देखने बाकी है,

इस बरसात मे बहक गया तो कैसे चलेगा?

उजाला तू भी देखेगा,


पर इन रातों में मदहोश हुआ तो कैसे चलेगा ?

इश्क़ के जाम अभी तो खूब पीने है,

नफरतों से बिना जूझे कैसे चलेगा ?


ख्वाब एक अब भी अधूरा है,

तू हार गया तो कैसे चलेगा ?

मंज़िल अभी मिली नहीं,

तु भटक गया तो कैसे चलेगा ?


एक ख़ूबसूरत तोहफ़ा है जिंदगी,

और जीना अभी बाकी है,

तू मर गया तो कैसे चलेगा ?


Rate this content
Log in

More hindi poem from SHAMANA GONDALIA

Similar hindi poem from Classics