Exclusive FREE session on RIG VEDA for you, Register now!
Exclusive FREE session on RIG VEDA for you, Register now!

सोनी गुप्ता

Abstract


4.5  

सोनी गुप्ता

Abstract


बेटियाँ

बेटियाँ

1 min 221 1 min 221


बेटियाँ है एक अमूल्य निधि ,

प्रकृति की अद्भुत रचना है ,

जीवन में बसंत और उल्लास है बेटियाँ I


जिसके संग जुड़े हैं जीवन के सरस तार ,

सूरज की रोशनी की तरह चमकती हैं ,

जीवन में खुशियाँ घोलती हैं बेटियाँ I


संस्कारों की शान हर घर की जान है ,

प्रेम का आधार खुशियों का संसार है ,

त्याग की सूरत, ममता की मूरत है बेटियाँ I


कई रूप अनुपम हैं इसके ,

आंगन की तुलसी मेरा विश्वास है ,

हर लम्हे में खुशियाँ ढूंढती है बेटियाँ I


दुःख की बदरी जब भी कभी आती ,

सुधा रस सब पर बरसाती हैं बेटियाँ ,

हमेशा नव दृष्टि से नव सृष्टि का ,

निर्माण करती हैं बेटियाँ I


खुली वादियों में चहकती कलियां ,

प्यार का रिश्ता जैसे कोई फ़रिश्ता ,

जीवन की कीमती सौगात है बेटियाँ I


Rate this content
Log in

More hindi poem from सोनी गुप्ता

Similar hindi poem from Abstract