Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
स्ट्रीट-लाइट के नीचे
स्ट्रीट-लाइट के नीचे
★★★★★

© Kaushal Upreti

Abstract

1 Minutes   7.9K    12


Content Ranking

 

स्ट्रीट-लाइट के नीचे

शहर की रात

धीरे-धीरे जवान होती है

कुछ ख्वाब रातो में

टूटते तारों की तरह छन्....

जिनके टूटते ही लोग

आँखे बंद कर

अपनी-अपनी मंजिल पाने की

दुआ करते हैं .....

 

 

मंजिल दुआ

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..