Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
अम्मा
अम्मा
★★★★★

© Manoj Bhardwaj

Drama

2 Minutes   7.0K    6


Content Ranking

अम्मा तू ना होती तो, मैं ना होता ।

मेरे सपनो मे, ज़मीं और आसमाँ ना होता ।।


तूने ही मुझे इस दुनिया में लाया ।

तूने ही जीवन के पाठ पढ़ाया ।।

जब भी मैं बचपन मे गिरता ।

दौड़ कर तुम मेरे पास आती ।।

सब कुछ छोड़- छाड़ कर ।

सीने से तुम मुझे लगाती ।।


अम्माँ तू ऐसी है, तू कैसी है ।।।

बड़े घाव भी भर जाते ।

जब प्यार भरे तेरे हाथ लग जाते ।।


हर अपनी खुशियों को यूँ मार देती ।

जब मेरी खुशियां तेरे सामने आती ।।

न जानें तू किस दुःख से गुज़रती ।

पर उनको मुझ तक आने ना देती ।।


अपनी खुशियों को मार देती ।

मेरी खुशियों में चार-चाँद लगाती ।।

अम्माँ तू ऐसी है, तु कैसी है ।।।


जब भी मैं स्कूल जाता ।

हर वक़्त तेरा जी घबराता ।।

जब भी पिता जी मुझे डाँटते ।

तुम मेरा ढाल बन जाती ।।


जब बापू थप्पड़ मुझे मारते ।

दिल में चोट तेरे भी लगती ।।

बड़े प्यार से आँसू पोछती ।

लाड प्यार से गले लगाती ।।


अम्माँ तू ऐसी है, तू कैसी है ।

मैं बचपन से बड़ा हो गया ।

न जानें ये दौर कब शुरू हो गया ।।


तेरी बातें अनकहीं कर गया ।

जब लोगों के बातें सुनता गया ।।

पैसे कमाने के चक्कर में, तेरी अब याद न आती ।

उन पैसों का क्या करूँ जो तेरे अब किसी काम न आती।।


न याद किया ना वार्तालाप किया ।

बड़े शान से लोगों में , तेरा गुड़गान कीया ।।

कभी न सोचा, तू दूर मुझसे कैसी होगी ।

चकाचौंध की जीवन में , भूल गया गाँव में अब माँ कैसी होगी।।


अम्माँ तू ऐसी है, तू कैसी हैं ।

अम्माँ तू ऐसी है, तू कैसी है ।।


Motherhood Love Kavishala

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..