Win cash rewards worth Rs.45,000. Participate in "A Writing Contest with a TWIST".
Win cash rewards worth Rs.45,000. Participate in "A Writing Contest with a TWIST".

Akshat Garhwal

Fantasy Thriller


4  

Akshat Garhwal

Fantasy Thriller


The 13th अध्याय 14

The 13th अध्याय 14

15 mins 373 15 mins 373

उन चारों के कदम बहुत ही तेजी से मेडिकल रूम की तरफ बढ़ रहे थे, चेहरे पर किसी तरह की उत्सुकता ने अपना रौब जमा रखा था। मेडिकल रूम जो कि लिफ्ट के बहुत पास में था उसका दरवाजा अभी लगा हुआ था, उन पांचों के पीछे उनका वो डॉक्टर भी आ रहा था पर आराम से क्योंकि उसे अब कोई जल्दी नहीं थी। दरवाजे से टकराते हुए जल्दी से पांचों अंदर गए..............

“अरे वाह! मेरी खिदमत में तो तुम सब दौड़े चले आये” बिस्तर पर बैठा हुआ रोबर्ट थोड़ी धीमी आवाज में बोला, उसके चेहरे की बाईं ओर थोड़ी सूजन थी बाकी कोई भी चोट का निशान नहीं दिख रहा था

“थैंक गॉड तुम सही सलामत हो” मिस्टर जोस ने चैन की सांस लेकर कहा, उनके चेहरे की खुशी बता रही थी कि उन्हें रोबर्ट की कितनी चिंता रही होगी।

इथन,जुलिया और जैक सीधे उसके गले जा लगे, रोबर्ट उन सभी को इस तरह देख कर बहुत खुश था। उसे अच्छा लग रहा था कि इन सभी को उसकी कितनी परवाह थी। धीरे से तीनों ने रोबर्ट को छोड़ा और उसके पास लगी कुर्सियों पर बैठ गए, मिस्टर जोस ने भी एक सफेद रंग का स्टूल उठाया और फिर उस पर बैठ गए ठीक रोबर्ट के सामने।

“तुम यकीन नहीं करोगे की तुम्हारे साथ शाइन ट्रस्ट मैं क्या हुआ था!” जैक ने अपनी आंखें बड़ी करके उसे बताना चाहा जिस पर रोबर्ट ने तपाक से जवाब दे दिया

“मैं यकीन नहीं करूंगा?....” सभी की तरफ देख कर उसने अपने सीने पर उंगली रखते हुए कहा “मैं तुम्हे बता नहीं सकता कि तुम मेरी को को सी बात पर यकीन करोगे, जो हुआ वो इतना दिमाग चकरा देने वाला था ना कि अगर मैं किसी के मुँह से सुनता तो खुद यकीन नहीं करता”

“वैसे शाइन ट्रस्ट के एक सर्विलियंस एम्प्लॉय ने काफी कुछ ऐसा ही बताया है जिस पर यकीन करना मुश्किल है इसलिए जब तुम उस बात की पुष्टि करोगे तभी हमे कुछ मालुम चलेगा” मिस्टर जोस ने अपनी बात से रोबर्ट का ध्यान अपनी ओर खींचा

रोबर्ट के चेहरे पर उत्साह तो था पर उसके होंठो पर वो झिझक भी थी जैसे कि एक गुनाहगार पर होती है जब वो अपना सच कबूलने से कतराता है हालांकि रोबर्ट को देखते हुए इस कहना एक परेशानी ही थी

“ देखो मैं सिर्फ इतना ही बता सकता हूँ कि जैक ने जिस चाड आदिवासियों की कहानी को हमे दिया था........वो अब असल ही लग रही है। वहां पर...... 4 चोर थे, चारों के चेहरे किसी धातु के मास्क से ढके हुए थे जिनमें आंख की जगह और नाक की जगह पर ही छेद थे बाकी का पूरा मास्क सफेद रंग का सादा सा था। तुम सब शायद उन में से किसी एक के कंट्रोल में थे और...............तुमने हम सब पर हमला भी किया था। उनमें से दूसरा जो था उसके पास........”

“आग को कंट्रोल करने की पावर थी” इथन ने रोबर्ट का काम कम कर दिया

“तीसरे के पास अपने शरीर के अंगों हथियार में बदलने की” जुलिया ने भी ये जता दिया कि उन्हें पता है कि वो क्या कर रहे है।

उन सभी के बोलते ही रोबर्ट थोड़ा हैरान था, उसने कुछ पल उन सभी को ऐसे देखा जैसे उन लोगों ने उसके हाथ से उसका खाना छीन लिया हो

“तुम लोगों को सब कुछ याद कैसे है?....अभी तो डॉक्टर बोल कर गया था कि तुम में से किसी को भी उस घटना का कोई भी हिस्सा याद नहीं है। और तो और अभी तुम सभी ने ही तो कहा था कि मुझसे पूछ कर तुम कन्फर्म करोगे?” रोबर्ट ने अपनी उलझन बताई

“यह सब हमे अहमद ने बताया था.....वो सर्विलियंस एम्प्लॉय, जिसने हमे ये सब बताया था और जो किसी तरह से उस चोर के नियंत्रण में नहीं था” मिस्टर जोस ने रोबर्ट के सवालों का समाधान किया

अब जाकर रोबर्ट को चैन आया, वो वापस अपने बिस्तर पर लेट गया और राहत की सांस ली। सी आई ए के बाकी सदस्यों के चेहरे पर भी अब काफी राहत थी ये जान कर की अहमद ने उनसे कोई भी झूठ नहीं बोला था।

“वैसे एक सवाल अभी रह गया है?” मिस्टर जोस ने कुछ रोचक सी आवाज में कहा जैसे कोई गम्भीर से सवाल हो

“हा तो पूछ लीजिये” रोबर्ट ने आराम से लेटे हुए कहा

सभी समझ गए कि मिस्टर जोस अभी कौन सा सवाल पूछने जा रहे है, ये वहीं सवाल था जिसने सभी के मन में रोबर्ट को लेकर कुछ शक पैदा कर दिया था

“तुम भी तो इथन और जुलिया के साथ अंदर गए थे न? तो फिर अहमद ने बताया कि तुम बाहर से आये थे बंदूक लेकर जब एलेन मुसीबत में थी?”

“अच्छा ऐसा है क्या?.......” रोबर्ट अपनी हंसी दबाता हुआ बोला “वो जब हम सब अंदर जा रहे थे तभी मुझे बाहर कुछ गार्ड्स जूस पीते हुए दिखे तो मैंने उनसे पूछा कि यहां पर कोई खाने की व्यवस्था है क्या? तो उन्होंने बताया कि वो जो बाईं ओर की बिल्डिंग है ना वहां पर कैफेटेरिया है.....तो मैं जरा वहां पर चला गया, वैसे भी सुबह से ही भटक रहे थे तो मुझे भूख लगी थी। और ये बात तो मैंने तुम्हें बताई थी न इथन?”

अपना नाम सुनकर इथन कुछ चौक पड़ा, फिर वो किसी सोच में पड़ गया

“पर मुझे ऐसा कुछ याद नहीं है?........तुमने मुझे बताया होता तो मुझे याद रहता ना” इथन ने अभी भी अपने दिमाग पर जोर डालकर कहा, वो भी याद करने की कोशिश कर रहा था कि रोबर्ट ने उससे कब पूछा था। सभी के मन यहीं बात आ रहीं थी कि इथन को ये बात याद क्यों नही है?

“अच्छा जब तुम उस शाइन ट्रस्ट के ओनर से मिले थे तो उसने अपना नाम बताया था तो तुमने उससे एक सवाल पूछा था क्या तुम्हें वो याद है?” रोबर्ट ने इथन से सवाल किया

इथन को ये बात भी शायद याद नहीं थी, इसलिए वो फिर से एक बार सोचने लगा

“हाँ मैंने उससे कुछ पूछा तो था पर मुझे वो कुछ याद सा नहीं है” इथन ने थोड़ी निराश के साथ जवाब दिया

“ कोई बात नहीं? शायद उस चोर के कंट्रोल के कारण तुम सभी उस घटना के आस-पास का कुछ हिस्सा भी भूल गए हो। तुमने उससे पूछा था कि क्या वो कुछ फ़ोर्स मिस एलेनोरा के लिए भेज सकता है, रस्ते में हम पर अटैक हो गया था” रोबेर्ट की बात सुनते ही इथन को याद आ गया कि उसने यहीं सब कहा था

“अरे हां, अब मुझे याद आया......पर एक बात बता? तूने उस गार्ड से जूस क्यों छीन लिया था?”

“भूख लगी थी यार और क्या?” इथन को याद आता देख और रोबर्ट की वो भूख वाली शक्ल देख कर सभी को हंसी आ गयी, अब वो गम के बादल काफी कम हो गए थे। अब सभी को विश्वास हो गया था कि रोबर्ट पर किया हुआ शक गलत ही था पर ये बात भी सच थी कि उनका पाला सिर्फ लोगों को कंट्रोल कर सकने वाले चोर से नहीं था बल्कि उसके ही जैसे तीन और पर भी था जिनमे से 2 की शक्तियों के बारे में सी आई ए को जानकारी थी पर उस 4थे चोर के बारे में अभी कुछ भी नहीं पता था। या तो वो सभी की तरह सामान्य इंसान था या फिर उसमें भी किसी तरह की शक्तियां थी?

“अरे........शाइन ट्रस्ट से याद आया!” सभी को अनुमान हो गया था कि रोबर्ट क्या पूछने वाला है? “ एलेनोरा नहीं दिखाई दे रहीं, कहीँ बाहर गयी है क्या?”

रोबर्ट की बात पर किसी के मुँह से कोई भी शब्द नहीं निकला, उनके परेशान चेहरे देख कर रोबर्ट को भी चिंता होने लगी, उसका चेहरा लटक सा गया। पर उसके सवाल का जवाब खामोशी नहीं थी

“एलेनोरा को अभी होश नहीं आया है,आखिर सबसे ज्यादा मेहनत उसी की तो थी। पर हमें चिंता करने की जगह अपनी इन्वेस्टीगेशन का नया चरण शुरू कर देना चाहिए वरना अगर एलेनोरा को पता चला तो..............” मिस्टर जोस ने सभी को थप्पड़ का इशारा किया और जता दिया कि एलेनोरा को ये पसंद नहीं आएगा कि हम यहां बैठे सिर्फ उसकी चिंता करते रहे जबकि न्यूयॉर्क पर...........या सारे विश्व पर एक गहरा संकट मंडरा रहा है।

“तो अब हम सब वापस अपने इस केस की जितनी भी कड़ियाँ हाथ लगी है उन्हें जोड़ कर एक ऐसी योजना की ओर काम करने वाले है जिससे इन शक्तियों का कोई तोड़ निकाला जा सके” मिस्टर जोस अपने स्टूल पर से उठ कर खड़े हो गए, उनके साथ ही बाकी सभी भी उठ गए। रोबर्ट भी उठने लगा

“नहीं रोबर्ट! तुम्हें उठने की जरूरत नहीं है सिर्फ आज आराम करो, कल से तुम्हारा बहुत काम पड़ने वाला है”

रोबर्ट को वापस बिस्तर पर लिटा कर वो सभी अपने इन्वेस्टिगेशन रूम में आ गए। सभी ने अपनी -अपनी जगह पर अपने कूल्हे टिकाये और मिस्टर जोस के इंस्ट्रुक्शन्स ध्यान से सुनने लगे

“जैक और जुलिया, तुम दोनों अभी के अभी शाइन ट्रस्ट के लिए रवाना होंगे और पता करोगे की वो कौन सा कारण था जिस वजह से अहमद उस मिस्टर सी के कंट्रोल में नहीं आया”

“मिस्टर सी!?” सभी ये नया नाम सुनकर एकसाथ बोल पड़े

“उन सब के नाम तो हम जानते नहीं है इसलिए किसी तरह के नाम से उन सभी को याद तो रखना पड़ेगा, इससे हमें थोड़ी आसानी हो जाएगी। कंट्रोल से मिस्टर सी, ह्यूमन वेपन से मिस्टर एच और फायर से मिस्टर एफ! आखिरी वाले को जीरो से नामांकित करेंगे.....गोट इट ?”

“यस सर् ” जोशीली आवाज उस कमरे में गूंज उठी

“इथन! तुम उन लोगों के बारे में पता करोगे जिन लोगों ने रास्ते में तुम सब पर हमला किया था और अगर वो लोग किसी भी तरह से इस केस से जुड़े हुए है तो इसकी पूरी जानकारी दोगे” मिस्टर जोस की बात पर इथन से हामी भरी “और मैं तब तक उन अधूरे हिस्सों को पूरा करने की कोशिश करूंगा जो पॉलैंड और चीन से शुरू हुए थे”

मिस्टर जोस की बात को सुनकर सभी ने जोश में हामी भरी और उठने को तैयार हुए, सब के मन में आशा थी कि जल्दी ही वो इस सब की मुख्य जड़ तक पहुंच कर इसका कोई समाधान निकाल लेंगे

“मुझे लगता है हमें चाड चलना चाहिए...आख़िर वो जगह ऐसी है जहाँ से ये कहानियां निकली है तो फिर इन सब का हल भी हमें वहीँ पर मिल जाएगा?” जुलिया ने उठते हुए कहा

“अभी वहां जाना संभव नहीं है, वहां की सरकार ने खास प्रतिबंध लगाया हुआ है” मिस्टर जोस ने कहा और याद दिला दिया कि इस वक्त वो सभी चाड नहीं जा सकते। अभी तो सभी को सिर्फ इस बात पर ध्यान देना था कि जो उनके बस में हैं फिलहाल उसे ही तवज्जों देना चाहिए ताकि कुछ न से कुछ तो सही हाथ लगे।

सभी अपने-अपने मिशन के लिए निकल पड़े इस उम्मीद से की इससे पहले की कुछ भी बड़ा घटित हो, उनके पास उसे रोकने का रास्ता भी हो........... 

शाइन ट्रस्ट में हुए घटना को आज 4 दिन बीत चुके थे, अब तक उस दिन के बाद से इस केस से जुड़ी हुई कोई भी घटना नहीं सामने आई थी और न ही किसी तरह का कोई क्राइम हुआ था जिससे सी आई ए को सुपरनैचुरल घटना का कोई संकेत मिले। सब कुछ काफी शांत था, इतना कि सड़कों से गुजरती हुई हवा भी कानों में कोई शब्द कह जाती। आज 4 दिनों की इन्वेस्टीगेशन के बाद सभी सी आई ए के ओफ्फिसर्स जो न्यूयॉर्क में थे, वापस उसी ‘वाइट पैराडाइज’ में मिलने वाले थे जहां से पिछली बार उन्होंने अपने मिशन्स तय किये थे। जैक और जुलिया अभी-अभी मोटेल में आये थे और लिफ्ट की ओर बढ़ रहे थे। वो तो सीधे जाने वाले थे कि उनकी नजर रिसेप्शन के पास खड़े इथन पर पड़ गयी

“इथन!” जैक ने उसे हाथ हवा में हिलाते हुए इशारा किया, नीली टाइट शर्ट और व्हाइट पेंट में वो एकदम ही आकर्षक लग रहा था। रिसेप्शन पर खड़ी वो लड़की बार बार नजरें चुरा कर उसे ही देख रही थी, ऊपर से उसकी शर्ट के सामने के जेब में एक काला चश्मा टंगा हुआ था जो उसे लुक्स(Looks) को मॉडल की तरह दर्शा रहा था

“ओह,...... हाय जैक, हाय जुलिया” जैक की आवाज सुनकर वो रिसेप्शन से हट कर उन दोनों की तरफ आ गया। पहले जैक के गले लगा और उसके बाद जुलिया के “मुझे लगा तुम दोनों आ चुके हो?........कैसे कटे ये चार दिन”

“काफी अच्छा समय बीता, वैसे भी कमरे में बैठा-बैठा में बोर हो चुका था। इन चार दिनों के घूमने फिरने में अब पहले से बेहतर हो रहा है” जैक ने जवाब दिया

“अगर तुम हमारा इंते4जार नहीं कर रहे थे तो किसका कर रहे थे?” जुलिया ने रिसेप्शन डेस्क की तरफ इशारा किया, इथन ने मुड़ के देखा तो उस रिसेप्शन वाली लड़की ने जल्दी से अपनी नजरें छुपा कर किसी काम में व्यस्त होने का नाटक करने लगी

“नहींSSSSSS.....तुम जैसा सोच रही हो.....वैसा तो बिल्कुल भी नहीं है” इथन ने एक गाल से मुस्कुराते हुए कहा “वो मैं यहाँ पर........”

“अरे वाह! तुम दोनों भी मेरा ही इंतजार कर रहे हो क्या?” उस आवाज को सुनकर तीनों का ध्यान बाहर की तरफ वाले दरवाजे की ओर गया जहां से रोबर्ट मुस्कुराता हुआ आ रहा था, व्हाइट टी शर्ट और काले जीन्स को पहने हुए। उसे आता है देख कर और सही सलामत देख कर सभी के चेहरे खिल उठे। अब उसके शरीर पर कहीँ पर भी पट्टियां नहीं बंधी हुई थी सिर्फ़ एक छोटा सा बैंडेज था जो कि उसके माथे पर लटकती जुल्फों के पीछे छुपा हुआ था। सभी एक साथ गले लगे, आखिर 4 दिन तक दूर रहे वरना यूँ तो एक दूसरे की टांग ही खींचा करते थे।

“तो अब चले वरना मिस्टर जोस हमारे इंतज़ार में ही सो जाएंगे” उसकी बात पर सभी ने मुस्कान दी और लिफ्ट में चढ़ गए। कुछ ही देर में लिफ्ट ऊपर की ओर रवाना हुई चारों लिफ्ट की एक एक दीवार से टिक कर खड़े थे, फिर रोबर्ट से तो वैसे भी चुप रहते नहीं बनता तो भला वो यहां पर कैसे चुप रहता?

“कुछ पता चला शाइन ट्रस्ट की इंवेस्टिगेशन्स से?.......आई हॉप यु हैव ए गुड न्यूज ” रोबर्ट ने जुलिया और जैक की और नजरें टिका कर सवाल किया, वो दोनों एक दूसरे के काफी करीब ही खड़े थे

“हाँ बहुत अच्छा सबूत या कहो एक रास्ता मिल गया है उस मिस्टर सी से निपटने का” जैक ने इथन और रोबर्ट को बारी-बारी देखते हुए कहा “अभी कुछ देर में मिस्टर जोस के सामने ही रिपोर्ट रखेंगे तो पता चल ही जायेगा। हम तीनों का तो पता है पर तुम कहाँ गए थे?”

रोबर्ट ने पहले उन दोनों की बात को सुनकर कुछ सोचते हुए अनुमान लगाया, फिर बताया

“मुझे मिस्टर जोस ने कुछ वेपन्स की डिज़ाइन दिए थे सो में उन्हीं को अपने वेपन मास्टर.....वो सफेद बालों वाला आदमी जिसके बाल हमेशा चोटी में बंधे रहते है? उसके पास लेकर गया था”

रोबर्ट की बात खत्म होते ही लिफ्ट का दरवाजा खुला और वे सभी सबसे ऊपर के फ्लोर पर पहुंच गए। सामने ही मेडिकल रूम था जहां पर पहले रोबर्ट था, उसी रूम पर नजर मारते हुए वे सभी रूम नॉ. 500 के सामने आ गए और बेल बजाई। अंदर से किसी के चल कर आने की आवाज हुई और ‘क्लिक’ की आवाज के साथ ही दरवाजा खुला, सामने मिस्टर जोस थे, दरवाजा खोल कर बिना कुछ कहे वे अंदर आ गए और फिर उस सीक्रेट इन्वेस्टीगेशन रूम में चले गए। बाकी के साथी भी बाहर का दरवाजा लगा कर वहां अंदर चले आये।

“काफी देर लगा दी तुम सबने! कहीं रुक गए थे क्या?” मिस्टर जोस सामने जाकर वहां पर बैठ गए जहां पर जैक प्रोजेक्टर से दीवार पर केस से जुड़ी फाइल को दर्शाता था

“चलों जल्दी से बैठ जाओ” मिस्टर जोस की बात सुनते ही सभी ने एक टेबल के पास लगी कुर्सियों पर अपनी तशरीफ़ जमाई। कुछ पल की शांति के बाद मिस्टर जोस ने चुप्पी तोड़ी

“उम्मीद करता हूँ कि तुम सभी को कोई न कोई बहुत तगड़ा सुराग हांथ लगा हो ताकि इस केस में इस बार हम बिल्कुल भी नहीं उलझे” मिस्टर जोस ने सीधे-सीधे रिपोर्ट मांगने की बजाय अलग ही तरीके से पूछा

“यस सर्!” सभी ने एक स्वर में कहा

इस बार इथन सबसे पहले खड़ा हुआ, एक पेन ड्राइव जैक को दी। जैक ने तुरंत ही अपनी जीन्स के पीछे से एक टैब निकला और उसमें पेन ड्राइव लगा दी पर इतने में ही रोबर्ट फटी सी आंखों से देखता हुआ बोल पड़ा

“भाई कहाँ से निकाला ये? पीछे इतनी जगह होती भी है क्या” भले ही माहौल थोड़ा सा गंभीर था फिर भी रोबर्ट की बातें माहौल में हंसी घोलने में नाकामयाब नहीं थी। सभी ने जोरदार ठहाका लगाया और मिस्टर जोस तो अभी भी अपनी हंसी छुपाने की कोशिश में ही थे

“ऊहुँSSSSSSS.......अब जरा पॉइंट पर आ जाओ” मिस्टर जोस ने थोड़ा के खांसते हुए कहा

सभी ने अपनी हंसी बैंड की और जैक ने जल्दी से वो pendrive लग कर उसके अंदर का कंटेंट दिखाया। सामने दीवार पर एक फ़ाइल खुल गयी जिसके ऊपर एक लाल ऑक्टोपस का चित्र बना हुआ था उस फ़ाइल के खुलते ही उस आर्गेनाईजेशन का इतिहास सभी के सामने खुल गया

“इस आर्गेनाईजेशन का नाम ‘रेड ऑक्टोपस’ है। काफी सारे इललीगल कामों के पीछे इसका हाथ हैं पर आज तक इसके बारे में कुछ खास जानकारी किसी के पास नहीं है क्योंकि इसने अपना अस्तित्व हमेशा छुपाये रखा.....पर पहली बार ऐसा हो रहा है कि ‘रेड ऑक्टोपस’ के लोग खुद ही सामने आ रहे है और डायरेक्टली इस केस में इन्वॉल्व हो रहे है” इतना बोल करके इथन कुछ पलों के लिए शांत हो गया

“क्या?....... बस इतना ही?!” मिस्टर जोस ने कुछ चिंतित होकर पूछा, बाकी सभी के मन में भी यहीं था कि क्या बस इतना ही? ‘रेड ऑक्टोपस’ के बारे में औऱ कोई जानकारी नहीं है!

“यार वैसे ही सुपरनैचुरल पावर वाले बंदों से अपनी वाट लगी हुई है ऊपर से अब इस ‘रेड ऑक्टोपस’ से निपटना पड़ेगा?.......आखिर ये लोग हैं कौन और चाहते क्या है?” रोबर्ट ने अपने हाथ बांधते हुए चिड़चिड़ाते हुए पूछा

इथन ने गहरी सांस ली और जैक से फ़ाइल का दूसरा हिस्सा दिखाने का हाथ से इशारा किया

“एलेन से फाइट के दौरान जो गुंडा बच गया था उसने अपना नाम बटलर बताया। वैसे तो वो कुछ भी नहीं बताने को तैयार था पर आखिरकार हमने उसे सच बोलने का इंजेक्शन देकर काफी कुछ निकलवा लिया। वो अपने कुछ आदमियों के साथ मेनहट्टन के नदी वाले छोर पर किसी ऐसे शख्श का इंतज़ार कर रहा था जो कि..........!” इथन के गले से थूक नीचे उतर गया, उसके चेहरे पर पसीना साफ झलक रहा था “इससे पहले की मुद्दे वाली बात बताऊँ एक और जरूरी बात! इसे एक ऐसा केमिकल या ड्रग कह लो दिया हुआ है जिसके कारण ये सच बोलने के इंजेक्शन के बाद भी अपने असली मकसद या रेड ऑक्टोपस के बारे में नहीं बता पाया!”

“ओह!..... वो छोड़ो और जल्दी से ये बताओ कि वो मुद्दई की बात को सी थी?” रोबर्ट के सदाथ ही सभी इस बात को जानने के लिए उत्सुक थे पर इथन के चेहरे के भाव देख कर ही इस लग रहा था जैसे की किसी परेशानी वाली बात है, आखिरकार वो बोला और जब वो बोला तो सभी का मुंह रह गया खुला का खुला

“बटलर जिस का इंतज़ार कर रहा था..........वो उसे इजांतक की किताब देने वाला था!”


Rate this content
Log in

More hindi story from Akshat Garhwal

Similar hindi story from Fantasy