Renu Poddar

Tragedy


5.0  

Renu Poddar

Tragedy


ओछी मानसिकता

ओछी मानसिकता

1 min 253 1 min 253

स्कूल से आते ही दसवीं में पढ़ रही परी ने अपनी मम्मी सान्या से पूछा "मम्मी कल स्कूल में मीटिंग है, आप चलोगी न"। 

सान्या ने थोड़ा सकुचाते हुए कहा "बेटा अपने पापा को ले जाना, मुझे वहां बहुत असहज महसूस होता है । सब इतनी फर्राटेदार इंग्लिश बोल रहे होते हैं, जब में हिंदी में बोलती हूँ तो मुझे लगता है, सब मुझे नीची निगाह से देख कर मेरा मज़ाक बना रहे है"।

परी सान्या को समझाती हुई बोली "इसमें कमी उन लोगों की है, जो किसी का हुनर भाषा से आंकते हैं । भाषा सिर्फ अपनी बात समझाने का ज़रिया है । आप अपनी बात पूरे विश्वास से करना । आप को हमारी मातृभाषा हिंदी के लिए चलना होगा, जो चंद लोगो की ओछी मानसिकता की वजह से अपना सम्मान खोती जा रही है"। 


Rate this content
Log in

More hindi story from Renu Poddar

Similar hindi story from Tragedy