Read #1 book on Hinduism and enhance your understanding of ancient Indian history.
Read #1 book on Hinduism and enhance your understanding of ancient Indian history.

Priyanka Sagar

Inspirational


3  

Priyanka Sagar

Inspirational


मूडी अनु

मूडी अनु

2 mins 196 2 mins 196

अनु अपने मे मग्न रहने वाली मूडी महिला हैं ।उसको कितना भी ताना मारा जाता ।उसके पीठ पीछे पड़ के उस पर कितने आरोप लगाये जाते ।पर,वह मजबूत चट्टान सी सब सहती हुई अपने मे मशगूल रहती।वह अपने मे खोयी-खोयी रहती।बस अपने बच्चों और अपने मे एक लक्ष्मण रेखा खींच रखी।उसकी दुनिया अपने बच्चों मे समाहित हैं।

पति भी जब बच्चों को स्नेह एवं प्यार से पेश आना चाहे ।तभी वो उस लक्ष्मण रेखा के अदंर आ पाते वरना अपने पति से अनु ने सख्त ताकिद कर रखी हैं वह अपने परिवार के प्रेम मे रहना चाहे तो उसे अपने छोटे संसार मे उनकी कोई गुजांइश नहीं हैं।क्योंकि जितना अनु को सहन करना था वह करती पर अपने बच्चों को अपने परिवार के परछाई से दूर रखना चाहती।क्योंकि वह जो झेल चुकी थी वह कतई नहीं चाहती उसके बच्चों को भी उससे दो-चार होना पड़े।

अनु अपने बच्चों को होस्टल मे डाल कर परिवरिश की।घर मे परिवारिक मतभेद था। सब परिवार अपने मे मस्त एवं मग्न हैं।बड़े घरों मे पैसों की कमी नहीं होती । व्यवहार की कमी होती हैं।सब अपने आप को बड़ा साबित करने मे लगे रहते।कोई भी किसी से कोई मतलब नहीं रखता।सब एक-दूसरे को नीचा दिखाने में लगे रहते।समय रहते अनु अपनी परिवार की कमजोरी को पकड़ ली इसलिये वह अपने परिवार से सामान्य दूरी बना कर अपने रिश्ते निभा रही । पर अपने बच्चों को इन सब पचड़ों से दूर अलग माहौल दी।जिससे बच्चे अपनी माँ के इस व्यवहार पर गर्वित अनुभव करते।



Rate this content
Log in

More hindi story from Priyanka Sagar

Similar hindi story from Inspirational