Click Here. Romance Combo up for Grabs to Read while it Rains!
Click Here. Romance Combo up for Grabs to Read while it Rains!

Richa Baijal

Tragedy


3.5  

Richa Baijal

Tragedy


डिअर डायरी डे 16

डिअर डायरी डे 16

3 mins 155 3 mins 155

डिअर डायरी डे 16


 मेरा देश उन जमातियों की वजह से तबाह हो रहा है । महाराष्ट्र में 1000 केस आ गए हैं और दिल्ली में 500 से ऊपर । एक राज्य की तारीफ करनी पड़ेगी ,और वो है कर्णाटक , 181 के बाद उसने एक भी पेशेंट नहीं बढ़ने दिया । हमारे देश का काला टीका बन कर चमक रहा है ,कर्नाटक ।


वहीँ चीन में कोरोना -2 ने दस्तक दे दी है । वो कह रहा कि इसके कोई लक्षण भी नहीं हैं । क्या ये सच है ? या चीन द्वारा मास्क और सांइटिज़ेर बेचने की एक और मार्केटिंग स्ट्रेटेजी ? वो कह रहा है कि अब जिसको कोरोना -1 हो चुका है , उसको कोरोना -2 हो सकता है । उसके 1540 लोग फिर से पॉजिटिव आये हैं । महसूस हो रहा है कि जैसे हम मानव-बम बन गए हों । अब आप खुद सोचो ,अगर दुनिया में कोरोना 2 जैसी कोई चीज़ है जो महसूस ही नहीं होगी,जिसके कोई लक्षण ही न होंगे , तब तो लोग सड़क पे गिर कर कभी भी मरेंगे या ज़बरदस्ती की दवाई लेंगे । हो सकता है हम ज़िन्दगी भर मास्क पहनें । 


हम बस लड़ रहे हैं , एक ऐसे दुश्मन से जो जैविक है । ऐसे में भारत हाइड्रो - क्लोरोक्विन नमक दवाई से लोगो को ठीक कर रहा है । यू .एस . ऐ. के राष्ट्रपति ने हमारे प्रधानमंत्री से धमकी भरे लहजे में दवाई मांगी । मोदी ने पहले मना किया ,फिर वो दवाई ट्रम्प को भिजवा दी । यू . एस .ए के हाथ पैर फूले हुए हैं इस वक्त । तब अब राष्ट्रीय प्रतिनिधित्व करने वाला देश किसको कहा जाना चाहिए ? शक्ति के लिहाज से हमें किसे सर्वोपरि मानना चाहिए ? चीन को जिसने ये महामारी देकर अरबों कमाए या भारत को जो हाथ जोड़कर अब भी और देशों की सहायता करने में लगा है ; उन्हें कोरोना से बचा रहा है ? या फिर यू . एस. ए .को ही मानते रहें जो विश्वशक्ति बनने का दावा करता है लेकिन उसका राष्ट्र इस वक्त सांस भी नहीं ले पा रहा है ? क्या विश्व शक्ति का मतलब विमानों की चमकती फ़ौज का अधिपति होना है ? इन सवालों के जवाब हमें फिर से ढूंढने चाहियें । एक और सवाल है मेरा : हम उन्हें जान बचाने की औषधि दे रहे हैं ; क्या अगर कभी हम यू . एस . ए. से कहते कि तुम्हारी मिलिट्री शक्ति ,तुम्हारे विमान ; तुम्हारी सैन्य -रचना का सार दो ; तब वो भी हमारी बात सुनता ?


भारत को सबसे समझदार राष्ट्र समझा जाता है । हमे मालूम है कि इस वक्त सैन्य -तनाव से आवश्यक है मानव -जीवन । लेकिन बड़े - बड़े राष्ट्रों में मौत बांटने वाला चीन ये कब समझेगा ? 10 लोग तो रोबोट जैसे दिखेंगे पृथ्वी पर घूमते हुए । फिर किस पर अपना कोरोना फैलाओगे और किसको जाताओगे कि मैं चीन हूँ । तुम फिर से आदिकाल में चले जाओगे ।

जिस तरह से फ़ूड - चैन बिगड़ने से पर्यावरण पर फर्क पड़ता है , उसी प्रकार मानव -जीवन की हानि से एक काल की समाप्ति होती है ।


ईश्वर- अल्लाह तेरो नाम 

"चीन "को सन्मति दो भगवान ।



Rate this content
Log in

More hindi story from Richa Baijal

Similar hindi story from Tragedy