Swati Rani

Crime


4.0  

Swati Rani

Crime


आस्तीन के सांप

आस्तीन के सांप

3 mins 76 3 mins 76

श्याम कपुर जी की छोटी लड़की रिद्धिमा की शादी थी, बड़ी एकता तलाकशुदा थी, उसकी एक बच्ची थी रिया।

श्याम का एक जिगरी दोस्त था विनित पराशर, अमेरिका में रहता था। कहते हैं एक बार श्याम के पास कुछ भी नहीं बचा था तब विनित ने ही संभाला था उसको। करीब 40 सालों की यारी थी दोनों की। बच्चों से काफी प्यार था विनित को। विनित जब भी इंडिया आता श्याम के यहाँ ही रूकता था।

विनित हैलो करने रिया के सामने आया। रिया जाकर अपने नानी माँ के पीछे छिपने लगी।

नानी माँ बोली, "जाओ बेटा अंकल तुम्हारे नाना जैसे हैं तुम्हारे लिये गिफ्टस लाये होंगे। डरो मत जाओ।" 

खाली वक्त में हरदम विनित रिया के इर्दगिर्द ही घूमा करता था, रिया को अक्सर घुमाने बाहर ले कर जाता था।

सारे मेहमान आ चुके थे। रिद्धिमा और एकता हमउम्र थी। तभी शादी से कुछ दिनों पहले एकता और उसकी बहुत सी सहेलियाँ रिद्धिमा कि खिंचाई कर रही थी। एक ने पूछा,"और क्या बातें होती है फोन पर??

सब जोर से हँस दी।

दूसरी बोली, "किस हुआ या नहीं अब तक??"

तभी रिया बोल पड़ी, "मुझे पता है कैसे किस करते हैं, अंकल ने सिखाया है मुझे।"

इतना कहकर रिया भाग गयी।

वहाँ किसी ने उसके बात को गंभीरता से नहीं लिया सिवाय उसके माँ के, सबने सोचा टीवी पर देखा होगा।

पर एकता काफी हैरान थी।

दौड़ के रिया के पीछे गयी, उससे पूछा तो पहले तो रिया डरी पर फिर बोली,"वो अंकल(विनित) इंपोर्टेड चाॅकलेट और गुड़िया लाते हैं मेरे लिये और बाथरूम में ले जाकर खूब प्यार करते थे। मेरे चीखने चिल्लाने कि आवाज़ ना आये इसलिए अपने रुम का म्यूजिक सिस्टम काफी तेज साउंड में बजा देते थे।

तब एकता का माथा ठनका, रिया पर वो कड़ी निगरानी रखने लगी।

एक दिन एकता कि आँख लगी ही थी कि उसने देखा रिया कमरे में नहीं है, दौड़ कर गयी तो देखा कार में विनित रिया को कहीं ले जाने वाला था।

एकता दौड़ कर कार के सामने खड़ी हो गयी और एकदम से चिल्लायी, "25 साल पहले जो तुमने मेरे साथ किया था वो ही मेरे बेटी के साथ कर रहा है तू कमीने। क्या सिखाता था मुझे, किस करना और पता ना क्या क्या। मेरे अंतर्मन पर इसका क्या असर पड़ा पता है मैं ठीक से पढ़ नहीं पायी, अवसाद में चली गयी थी। मैं तो डर के मारे किसी से कुछ नहीं कह पायी, पर तू वही अब जब मेरी बच्ची के साथ कर रहा है मैं चुप नहीं बैठूंगी। बहुत कर लिया अपने पिता के इज़्ज़त और तेरे एहसान का लिहाज।

विनित अंजान बनते हुये बोलता है, "श्याम ये क्या बोल रही है?? मुझे लगता है पति ने छोड़ दिया है तो इसके दिमाग पर असर हो गया है। मैं चालीस सालों से तुम लोगों से जुड़ा हूँ, कभी कुछ बुरा सुना है किसी से?? कितनी मदद कि है मैने तुम लोगों की।

"पापा ये राक्षस है, दरिंदा है, आपसे दोस्ती के ओट में ये फायदा उठाता था मेरा। मैं डर जाती थी, अब जब वही सब रिया के साथ कर रहा है तो मैं इसको माफ़ नहीं करुंगी, अगर आपको लगता है मैं गलत हूँ तो मैं अभी इसी वक्त ये शादी छोड़ कर जा रही हूँ ", एकता रोते हुये बोलती है।

तभी श्याम आगे बढ़कर विनित को एक जोरदार तमाचा मारता है और बोलता है , "निकल जा यहाँ से आस्तीन का सांप, वरना पुलिस बुलाऊँगा। "


Rate this content
Log in

More hindi story from Swati Rani

Similar hindi story from Crime