Exclusive FREE session on RIG VEDA for you, Register now!
Exclusive FREE session on RIG VEDA for you, Register now!

VIVEK ROUSHAN

Tragedy


4  

VIVEK ROUSHAN

Tragedy


विधायक जी

विधायक जी

1 min 224 1 min 224

इलेक्शन का समय नज़दीक

विधायक जी परेशान-परेशान

इसी बीच किसी ने

विधायक जी से सवाल पूछ लिया की

नेताजी इस बार आपकी चुनाव

जीतने की रणनीति क्या है ?

विधायक जी ठहरे रंगबाज़ आदमी

जनता को अपनी मुट्ठी में रखते हैं

वर्त्तमान में केंद्र और राज्य में

सरकार भी उनकी हीं पार्टी की है

मुख्यमंत्री के द्वारा मंत्री बनाये

जाने का प्रलोभन भी मिला हुआ है

प्रशासन,कानून और व्यवस्था को

ज्यादा तरजीह नहीं देते हैं?

विधायक जी झुँझलाकार

तेज़ आवाज़ में बोल पड़े

चुनाव रणनीति से नहीं

जीता जाता बबुआ

चुनाव जीता जाता है

कूटनीति से,छल-कपट से!

इधर हम दूसरे विरादरी के कुछ

लोगों का मर्डर करेंगे या करवाएँगे

कुछ लोगों का घर जलायेंगे

उधर मेरे विरादरी का सारा वोट

मेरे नाम के आगे छप जायेगा

चुनाव संपन्न होता है और नेताजी

विजेता घोषित किये जाते हैं!

जीतने के बाद अपने संबोधन में

नेताजी भावुक होकर कहते हैं

की ये जनता की जीत है

अब विरादरी के चुँगल में

फँसी जनता सोचे की

किस विरदारी

की जीत हुई और कौन हारा ?


Rate this content
Log in

More hindi poem from VIVEK ROUSHAN

Similar hindi poem from Tragedy