Read On the Go with our Latest e-Books. Click here
Read On the Go with our Latest e-Books. Click here

Manju Rai

Inspirational


4  

Manju Rai

Inspirational


महान बनना है तो पहला कदम उठाओ

महान बनना है तो पहला कदम उठाओ

2 mins 571 2 mins 571

गर कोई आपका विश्वास न करे तो,

उसे साबित करने की कोशिश न करें।


सत्य की राह पर चलते रहें,

सत्य का साक्ष्य देने की कोशिश न करें I 


अपने लक्ष्य को पाने की कोशिश करते रहें,

बीच राह में थककर न बैठें रहें।


जीवन में जो आसानी से मिले उसका क्या मोल ?

मुश्किलों से लड़कर जो मिले वो तो है अनमोल।


कोशिश करें तो आसमां भी झुक जायेगा,

बाज बन उड़ान भर, तेरे हौंसलों के आगे,

जमाना भी झुक जायेगा I 


जीवन में ये ज़रूरी नहीं की आप कितनी बार गिरे ?

ज़रूरी ये है कि गीरने के बाद आप कितनी बार उठे ?


रोज - रोज मरने से बेहतर है एक बार मरना,

अंजानी मौत से बेहतर है एक उद्देश्य के लिये मरना I 


अंहकार किस बात का करना ?

ये शरीर भी तो किराये का है,

साँसे भी तो उस ईश्वर की मेहरबानी है,

अंत में चार मन लकड़ी पर तो जलना है I 


फिर भी न समझे मन तो,

एक चक्कर श्मशान का लगा आना,

हर किसी की अंतिम गति वही है,

सिर्फ तुम्हारे कर्म तुम्हारे साथ जायेंगे,

बंद मुठ्ठी आये हो खाली हाथ है जाना I 


किसी की प्रसिद्धी देख जलने से बेहतर है,

स्वयं को प्रसिद्धी के काबिल बनाना I 


खुश रहना है तो लोंगों की परवाह करना छोड़ दो,

अपने आत्मविश्वास के साथ आगे बढ़ो औ,

अपने पीछे अपने पदचाप छोड़ दो I 


क्रोध वो अग्नि है जो मानव विवेक को जला देती है,

मौन से बढ़कर कोई प्रतिउत्तर नहीं, ये वो शक्ति है,

को बड़े - बड़े विजेताओं को हरा देती है I 


महान बनना है तो पहला कदम उठाओ,

इतिहास रचना है तो लक्ष्य की तरफ निरंतर बढ़ते जाओ I 


संसार से बड़ी कोई पाठशाला नहीं,

वक्त से बड़ा कोई गुरु नहीं,

अनुभव से बड़ा कोई ज्ञान नहीं,

ईश्वर से बड़ा कोई मार्गदर्शक नहीं,

आत्मविश्वास से बढ़कर कोई शक्ति नहीं,

धैर्य औ निर्भयता से बढ़कर कोई साथी नहीं,


जिसने ये बातें समझ ली, उसका जीवन ही सफल है,

वरना जीवन ही बेमानी है रुका हुआ पानी हैI 


Rate this content
Log in

More hindi poem from Manju Rai

Similar hindi poem from Inspirational