Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer
Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer

Rajeev Rana

Comedy

2  

Rajeev Rana

Comedy

Maid for each other.

Maid for each other.

1 min
485


दुनिया से जीती, बस Maid से हारी

बिन बताए उसने ना जाने कितनी छुट्टी मारी।


जब मेहमान घर मे आते थे ज्यादा

काम करने का उसका ना होता इरादा।


जब कहती तब मिल जाता उसको एडवांस

पर मुझे Hurt करने का छोड़ा ना Chance


होली दीवाली पर हमेशा देती थी बख्शीश

थोड़ा सी Dusting पर वो करती थी कीच कीच।


उसके हिसाब से करती में Time adjust

पर उसके लिए तो Mrs गुप्ता ही First


सच कहते है वो Maid से दिल ना लगना

दिल तोड़कर इसने एक दिन है जाना।


Rate this content
Log in

Similar hindi poem from Comedy