Participate in the 3rd Season of STORYMIRROR SCHOOLS WRITING COMPETITION - the BIGGEST Writing Competition in India for School Students & Teachers and win a 2N/3D holiday trip from Club Mahindra
Participate in the 3rd Season of STORYMIRROR SCHOOLS WRITING COMPETITION - the BIGGEST Writing Competition in India for School Students & Teachers and win a 2N/3D holiday trip from Club Mahindra

ला साकी थोड़ी तो और शराब ला

ला साकी थोड़ी तो और शराब ला

4 mins 451 4 mins 451

ला साकी थोड़ी तो और शराब ला

कुछ खुद पियूं और कुछ आज तू पिला

रोज़ रोज़ होता नही अब इंतज़ार तेरे आने का

घुल जाए खून में कुछ ऐसा दौर-ए-जाम ला।


ला साकी थोड़ी तो और शराब ला

पी कर जिसको बन जायें सारे गम खुशी

ना रहे होश और ना आए खुमार ही

ऐसा कुछ हो तो एक-दो नही तू हज़ार ला।


ला साकी थोड़ी तो और शराब ला

मिल बैठे हैं आज बिछड़े हुए यार सभी

जाम से जाम मिलेंगे और दिलों से दिल

कम ना कहीं पड़ जाएथोड़ी नहीं बेशुमार ला।


ला साकी थोड़ी तो और शराब ला

मयकदे में मेरे कोई तो रुख़-ए-गुलनार उगा

छा जाए नूर मिल जाए सबको रहमतें

ना रहे कोई दुखी ऐसा बख़्त-ए-साज़गार ला।


ला साकी थोड़ी तो और शराब ला

कोयल की कूक जैसी मीठी उसकी कोई नज़्म सुना

बहक जाए यह मयकदा सुन के होंठों से

रूह तक उतर जाए ऐसा कोई उनसे जवाब ला।


ला साकी थोड़ी तो और शराब ला

अब्र-ए-तर से आज कुछ तो मए-ए-ज़ोहद बरसा

इस मयकदे से होकर गये कामिल लाखों

जो ना लौट के फिर आए उनका कोई पैगाम ला।


ला साकी थोड़ी तो और शराब ला

जो बीत गया वो ना अब मुझको याद दिला

कभी पीते थे ज़माने से बच कर दर-ए-राज़

ना छुपा अब गिरेबान में बोतल खुलेआम ला।


ला साकी थोड़ी तो और शराब ला

खाली बोतलों में भी भर के थोड़ा आब ला

ना उड़ेल इस कदर बहुत महँगी हुई यह चीज़ ज़ालिम

कितनी पी गये कितनी है बाकी ज़रा हिसाब ला।


ला साकी थोड़ी तो और शराब ला

सागर को छलकने दे जी भर के तू अभी

अंजुम की रोशनी में भी खिलेंगे गुल कभी

कासा-ए-चश्म में भर के हुस्न-ए-बहार ला।


ला साकी थोड़ी तो और शराब ला

मेरे घर के आँगन में थोड़ा तू भी वक़्त बिता

अरमान हैं बहुत ज़्यादा ज़िंदगी है बहुत कम

कभी पर्दे में, कभी खुदा को सामने बे-हिजाब ला।


ला साकी थोड़ी तो और शराब ला

कुछ खुद पियूं और कुछ आज तू पिला।


Meanings of few words

साकी - one who serves wine in a bar

दौर-ए-जाम - round of wine drinking

खुमार - ecstacy, intoxication

बेशुमार - countless, numberless

रुख़-ए-गुलनार - flower like face

नूर - light, splendour

रहमतें - kindness, mercy

बख़्त-ए-साज़गार - favourable/appropriate luck

नज़्म - poem, poetry, verse

मयकदा - bar, tavern

बहक - intoxicated

रूह - soul, spirit

अब्र-ए-तर - wet cloud

मए-ए-ज़ोहद - spiritual wine

कामिल - perfect, complete, accomplished

पैगाम - message

दर-ए-राज़ - gate, house of secrets

गिरेबान - collar, under the shirt

आब - water

उडेल - pour

अंजुम - stars

गुल - flowers

सागर - wine-cup, goblet, bowl

कासा-ए-चश्म - bowl of eyes

हुस्न-ए-बहार - beauty of spring

अरमान - Desires, Longings, Yearning

बे-हिजाब - unveiled, uncovered


Rate this content
Log in

More hindi poem from Munish Mittal

Similar hindi poem from Fantasy