Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!
Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!

इतना ज्यादा ना कम

इतना ज्यादा ना कम

1 min
356


प्यार है तुमसे कहे कितना, इतना ज्यादा न कम

किया एतबार तुमपे बहुत, इतना ज्यादा न कम 


परवाह नहीं तुमको गर मेरी तो कोई बात नहीं  

तड़पोगे तुम भी ख़ातिर मेरे, इतना ज्यादा न कम


तुम मिलो न मुझसे और न कभी दिल निसार करो

होके बेचैन जागोगे रात भर, इतना ज्यादा न कम 


जिस्म का मिलना जरूरी नहीं इश्क इबादत है

करो प्यार मगर रहे दूरियाँ, इतना ज्यादा न कम 


जा रहे हो तोड़ दिल मेरा मगर नजर ढूंढेगी मुझे

रूठना जरूरी रूठो मगर, इतना ज्यादा न कम


यकीन दिला दूँ इश्क का तुम गर करो तो सही

हाथ मिलाओ दुशमनों सम्हल, इतना ज्यादा न कम


कहूँ किससे दास्ताने इश्क तेरी रुसवाई का डर  

मंजूर बदनामी तू रहे पाक साफ ज्यादा नहीं कम



Rate this content
Log in

Similar hindi poem from Romance