Participate in the 3rd Season of STORYMIRROR SCHOOLS WRITING COMPETITION - the BIGGEST Writing Competition in India for School Students & Teachers and win a 2N/3D holiday trip from Club Mahindra
Participate in the 3rd Season of STORYMIRROR SCHOOLS WRITING COMPETITION - the BIGGEST Writing Competition in India for School Students & Teachers and win a 2N/3D holiday trip from Club Mahindra

Lakshman Jha

Inspirational


4  

Lakshman Jha

Inspirational


" हम तो राही प्यार के "

" हम तो राही प्यार के "

2 mins 301 2 mins 301


सबको लेकर साथ चलो, आशाओं के दीप जलाओ !

राहों को प्रज्वलित करके, मंजिल तक उनको पहुँचाओ !! 

सबको लेकर साथ चलो, आशाओं के दीप जलाओ !

राहों को प्रज्वलित करके, मंजिल तक उनको पहुँचाओ !!


कुछ में हिम्मत बची नहीं, कोई चलने से लाचार हुआ ! 

पाँवों में छाले पड़-पड़ के, पैर भी मानो बेजार हुआ !!

कुछ में हिम्मत बची नहीं, कोई चलने से लाचार हुआ ! 

पाँवों में छाले पड़-पड़ के, पैर भी मानो बेजार हुआ !!


उनके घावों को मरहम कर सांत्वना तो कुछ देते जाओ !

राहों को प्रज्वलित करके, मंजिल तक उनको पहुँचाओ !!

सबको लेकर साथ चलो, आशाओं के दीप जलाओ !

राहों को प्रज्वलित करके, मंजिल तक उनको पहुँचाओ !!


जो अंधकार में डूब चुके,  उसे ज्ञान दीप दिखाना है !

सुनसान वीराने बंजर में, फिर से फूल खिलना है !!

जो अंधकार में डूब चुके, उसे ज्ञान दीप दिखाना है !

सुनसान वीराने बंजर में, फिर से फूल खिलना है !!


हिम्मत देकर साथ उसे, कुछ उनमें अलख जगाओ !

राहों को प्रज्वलित करके, मंजिल तक उनको पहुँचाओ !!

सबको लेकर साथ चलो, आशाओं के दीप जलाओ !

राहों को प्रज्वलित करके, मंजिल तक उनको पहुँचाओ !! 


निःस्वार्थ भाव की सेवा से, हम जग को जीत ही जाएंगे !

आपदा कभी आए हम पर, तो हम उस से भीड़ जाएंगे !!

निःस्वार्थ भाव की सेवा से, हम जग को जीत ही जाएंगे !

आपदा कभी आए हम पर, तो हम उस से भीड़ जाएंगे !!


नई शक्ति की नई शृंखला, चारों दिशा में बनकर दिखलाओ !

राहों को प्रज्वलित करके, मंजिल तक उनको पहुँचाओ !!

सबको लेकर साथ चलो, आशाओं के दीप जलाओ !

राहों को प्रज्वलित करके, मंजिल तक उनको पहुँचाओ !!



Rate this content
Log in

More hindi poem from Lakshman Jha

Similar hindi poem from Inspirational