Participate in the 3rd Season of STORYMIRROR SCHOOLS WRITING COMPETITION - the BIGGEST Writing Competition in India for School Students & Teachers and win a 2N/3D holiday trip from Club Mahindra
Participate in the 3rd Season of STORYMIRROR SCHOOLS WRITING COMPETITION - the BIGGEST Writing Competition in India for School Students & Teachers and win a 2N/3D holiday trip from Club Mahindra

parag mehta

Abstract Romance


5.0  

parag mehta

Abstract Romance


चिंगारी !!!

चिंगारी !!!

1 min 296 1 min 296

यह इश्क़ भी कहाँ आसान है !

आग है बराबर दोनों तरफ,

पर दोनों ही अनजान हैं !


यह रुत ही सुहानी है !

यह रात निकलती जानी है,

ज़िन्दगी एक अनपढ़ी कहानी है !


कोई चिंगारी ही लगा दो !

बस एक बार और मिला दो,

एक मौका ही कोई दिला दो !


एक मुद्दत के बाद हुआ है !

ज़हर भी अमृत हुआ है,

किसी और का कोई और हुआ है !


इन ख्वाहिशों के दरमियान !

बिना तलवार की वो म्यान,

सबका खींच गयी ध्यान !


उस तसव्वुर में देखा था !

एक ख्वाब को बुनते हुए,

रंग उसका सफ़ेद हो कर भी रंगीन था !


कहानी के हसीन से मोड़ पे !

अनजानी मंज़िल के सफर पे,

राहें ये दिलजानी हैं !


लगता है तो यह सच ही होगा !

आंखें खोल लूँ तो भी ख्वाब हसीं ही होगा,

जो जिसका है, वो उसका ही होगा !


पर एक चिंगारी ही लगानी है !

कोई तो लगा दो, मेरा शुक्रिया रहेगा,

वो मिला जो मुझे तो असर तेरी दुआ का रहेगा !


Rate this content
Log in

More hindi poem from parag mehta

Similar hindi poem from Abstract